मेरठ में लूट और हत्याएं बढ़ीं

2019-07-12T06:00:10Z

-कमिश्नरने की कानून एवं शांति व्यवस्था की समीक्षा

-कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराएं अधिकारी

Meerut : गाजियाबाद जनपद में डकैती और वाहन चोरी की वारदातें बढ़ी हैं तो वहीं मेरठ में लूट और हत्या की वारदातों में इजाफा हुआ है। गुरुवार को कमिश्नरी सभागार में लॉ एंड आर्डर की समीक्षा बैठक के दौरान कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने सभी जनपदों के डीएम और एसएसपी को हिदायत दी कि क्राइम कंट्रोल करें।

कांवड़ यात्रा पर फोकस

कमिश्नर ने 15 जुलाई से मंडल के विभिन्न जनपदों से गुजरने वाली कांवड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराने के निर्देश जनपदों के डीएम और एसएसपी को दिए। समीक्षा बैठक में कमिश्नर ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अभियान चलाकर शराब माफिया, राशन, भू-माफिया और गौकशों को चिह्नित कर जेल भेजें। महिला व बाल अपराधों के प्रति जीरो टॉलरेंस के निर्देश उन्होंने अधिकारियों को दिए तो वहीं कहा कि वे अपने-अपने जनपद में घूमते रहें और जनता के संपर्क में रहें।

आशंका पर करें बाउंड डाउन

आईजी रेंज आलोक सिंह ने कहा कि जिन अपराधियों से झगड़े की आशंका हो, उन्हें बाउंड डाउन करें और इस धनराशि को बढ़ाया जाएगा। एंटी रोमियो अभियान के तहत पहली बार पकड़े जाने पर शोहदे हो चेतावनी (रेडकार्ड) दिया जाएगा, अगर दोबारा पकड़ा गया तो सीधा जेल भेजा जाएगा।

ये रहे मौजूद

बैठक में डीएम मेरठ अनिल ढींगरा, गाजियाबाद रितु माहेश्वरी, बागपत पवन कुमार, हापुड़ अदिति सिंह, एसएसपी मेरठ अजय साहनी, बुलंदशहर एन कोलान्ची, गाजियाबाद सुधीर कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक बागपत शैलेश कुमार पाण्डेय, एसपी सिटी गौतमबुद्धनगर विनीत जैसवाल आदि मौजूद थे।

मंडल के आंकड़े

693 अपराधियों को गुंडा एक्ट लगा

95 अपराधियों को गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई

10 पर रासुका लगाई गई

47238 लोगों को मंडल में सचेत किया गया

29828 लोगों को मेरठ में सचेत किया गया

हापुड़ में महिला अपराधों के प्रकरण सर्वाधिक

(आंकड़े अप्रैल 2019 से जून 2019 तक के)


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.