कश्मीर में ट्रेनिंग लेने जा रहे धोनी सेना प्रमुख ने दी मंजूरी

2019-07-22T11:18:45Z

भारतीय क्रिकेट महेंद्र सिंह धोनी अगले दो महीने तक भारतीय सेना के साथ जुड़े रहेंगे। लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से सम्मानित धोनी ने ट्रेनिंग के लिए सेना से इजाजत मांगी थी जिसे स्वीकार कर लिया गया।

नई दिल्ली (एएनआई)। टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से नवाजे गए पूर्व भारतीय कप्तान एमएस धोनी अगले दो महीने पैराशूट रेजिमेंट के साथ बिताने वाले हैं। धोनी ने इसके लिए विंडीज दौरे से अपना नाम भी वापस ले लिया था। अब खबर आ रही कि सेना ने माही को ट्रेनिंग लेने की इजाजत दे दी है। सेना से जुड़े एक सूत्र ने बताया, 'धोनी की आर्मी के साथ ट्रेनिंग को भारतीय सेना प्रमुख विपिन रावत ने मंजूरी दे दी है। अब धोनी बतौर लेफ्टिनेंट कर्नल पैराशूट रेजिमेंट के साथ जुड़ सकते हैं।'

जम्मू-कश्मीर में होगी धोनी की ट्रेनिंग
भारतीय दिग्गज बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी अपनी रेजिमेंट के साथ वक्त भले बिताएंगे मगर किसी एक्टिव ऑपरेशन का हिस्सा नहीं बनेंगे। वहीं खबर आ रही कि धोनी ट्रेनिंग के लिए जम्मू-कश्मीर जाएंगे। बता दें धोनी टेरिटोरियल आर्मी की 106 इंफेंट्री बटालियन से जुड़े हैं। ये बटालियन पैराशूट रेजिमेंट के अंतर्गत आती है।
2011 में मिली थी सेना की वर्दी
भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज और पूर्व कप्तान एमएस धोनी को आर्मी ड्रेस काफी अच्छी लगती हैं। यही वजह है कि वह कैमोफ्लेग ड्रेस में अक्सर नजर आते हैं। मगर अब तो उन्हें इसकी आधिकारिक इजाजत भी मिली है। 2011 वर्ल्ड कप जीतने के बाद प्रादेशिक सेना ने धोनी को लेफ्टिनेंट कर्नल की मानक उपाधि से नवाजा था। धोनी का सपना था कि वह भी आर्मी ज्वॉइन करते हालांकि वह सीधे तौर पर न सही, ऑनरेरी ले.कर्नल बन गए। भारतीय सेना का हिस्सा बनने के बाद धोनी को वो सारी सुविधाएं मिलती हैं जो सेना के एक जवान को मिलती है।
फिलहाल क्रिकेट नहीं खेलेंगे धोनी, करने जा रहे लेफ्टिनेंट कर्नल की नौकरी
विंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का एलान, ये है भारत की नई टी-20, वनडे और टेस्ट टीम
15,000 फीट की ऊंचाई से लगाई थी छलांग
धोनी को सेना की वर्दी भले ही सम्मान के तौर पर मिली हो, मगर माही ने वर्दी पहनकर कड़ी ट्रेनिंग भी ली है। चार साल पहले की बात है जब आगरा स्थित भारतीय सेना के पैरा रेजिमेंट से धोनी ने पैरा जंप लगाया था। उन्होंने पैरा ट्रूपर ट्रेनिंग स्कूल से ट्रेनिंग लेने के बाद करीब 15,000 फ़ीट की ऊंचाई से पांच छलांगें लगाईं थीं। इसमें एक छलांग रात में लगाई गई थी। धोनी पैरा जंप लगाने वाले पहले स्पोर्ट्स पर्सन भी हैं।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.