उत्तर कोरिया ने ट्रंपकिम वार्ता फेल होने के बाद अपने पांच राजनयिकों को मौत के घाट उतारा

2019-05-31T15:57:41Z

उत्तर कोरिया ने ट्रंपकिम वार्ता फेल होने के बाद अमेरिका में तैनात अपने राजदूत और अन्य चार राजनयिकों को मौत के घाट उतार दिया है। एक अखबार ने इस बात का दावा किया है।

सिओल (आईएएनएस)। उत्तर कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग उन के बीच परमाणु कार्यक्रम पर हुई असफल वार्ता के बाद अमेरिका में तैनात अपने एक राजदूत और चार अन्य राजनयिकों को मौत के घाट उतार दिया है। साउथ कोरिया के एक अखबार 'चोसुन इल्बो' ने शुक्रवार को इस बात का दावा किया है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने इस अखबार के हवाले से बताया कि अमेरिका में उत्तर कोरियाई राजदूत किम ह्योक-चोल को मार्च में प्योंगयांग के एक उपनगर में मिरिम हवाई इलाके में फायरिंग दस्ते द्वारा मार डाला गया। चोल ने फरवरी में ट्रंप और किम के बीच वियतनाम की बैठक में अहम भूमिका निभाई थी और वह इस शिखर सम्मेलन में उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग के साथ उनकी पर्सनल ट्रेन में बैठकर गए थे। अखबार ने बताया कि चोल पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने अपने नेता को धोखा देकर अमेरिकियों का दिल जीता था।

वियतनाम में 2600 विदेशी पत्रकार करेंगे ट्रंप-किम समिट को कवर, महज 20 दिनों में हुई पूरी तैयारी

चार अन्य अधिकारियों को भी मारा

इसके साल अखबार ने यह भी बताया कि उत्तर कोरियाई विदेश मंत्रालय के चार अन्य अधिकारियों को भी मार दिया गया है। हालांकि, अखबार ने यह नहीं बताया कि उन्हें यह जानकारी किससे और कैसे मिली। इन अधिकारियों का नाम फिलहाल पता नहीं चल पाया है। दक्षिण कोरियाई अधिकारी चोसुन इल्बो की रिपोर्ट की पुष्टि नहीं कर पाए हैं। इसके अलावा उत्तर कोरिया ने भी हाल ही में अपने किसी अधिकारी के मरने या गिरफ्तार होने की जानकारी नहीं दी है। इसके अलावा अखबार ने यह भी बताया कि उत्तर कोरिया में किम जोंग उन के ट्रांसलेटर शिन हाये यॉन्ग को समिट के दौरान एक गलती की वजह से जेल भेज दिया गया था। दरअसल, वह किम के नए प्रस्ताव का अनुवाद करने में असफल रहीं और वहां से चली गईं।


Posted By: Mukul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.