हिलेरी क्लिंटन और ओबामा के घर पर भेजा गया पैकेज में बम ट्रंप और उनकी पत्नी ने की निंदा

2018-10-25T13:49:47Z

हिलेरी क्लिंटन और बराक ओबामा के घर पर डाक के जरिए पैकेज में बम भेजे जाने का मामला सामने आया है। अमेरिका की सीक्रेट सर्विस ने इस बात की जानकारी दी।

वाशिंगटन/न्यूयार्क (पीटीआई)। अमेरिका की सीक्रेट सर्विस ने बुधवार को बताया कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के घर पर संदिग्ध पैकेटों के जरिये बम भेजा गया था। हालांकि ये बम वाला पैकेट ओबामा या हिलेरी में से किसी ने नहीं लिए और न ही ऐसा कोई खतरा था कि ये पैकेट सीधे उन तक पहुंच पाते। जांच एजेंसी ने कहा कि ओबामा के घर पर भेजे जाने वाले पैकेट को बुधवार की सुबह वाशिंगटन डीसी में बरामद किया गया, वहीं क्लिंटन के यहां भेजा गया पैकेट मंगलवार को पकड़ा गया था। इन संदिग्ध पैकेटों को बरामद करने के बाद सीक्रेट सर्विस ने इस गंभीर मामले की आपराधिक जांच शुरू कर दी है।

जल्द ही पकड़ा जायेगा आरोपी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिकी रष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को भी इस मामले की जानकारी दे दी गई है। ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने इस मामले की खूब निंदा की है और साथ ही कहा है कि ऐसा करने वाले व्यक्ति को जल्द ही पकड़ लिया जायेगा। बता दें कि इसी हफ्ते डेमोक्रेटिक पार्टी के मुख्य दानकर्ता और अरबपति जार्ज सोरोस के घर पर भी इसी तरह का संदिग्ध पैकेट भेजा गया था। अब जांच एजेंसियां तीनों जगहों पर एक ही तरह के भेजे गए पैकेटों का तार जोड़ने की कोशिश कर रही हैं। जांच एजेंसी ने अपने बयान में कहा है कि जांच के दौरान इन पैकेटों में विस्फोटक उपकरण होने की पहचान कर ली गई है।
सीएनएन के ऑफिस में भी भेजा गया बम
इसके अलावा अमेरिकी मीडिया 'सीएनएन' के न्यूयार्क स्थित ब्यूरो में भी पैकेट के अंदर बम डिवाइस मिलने की बात सामने आई है। इस मामले में न्यूयार्क पुलिस का कहना है कि टाइम वार्नर सेंटर में स्थित सीएनएन के ब्यूरो ऑफिस में जांच के लिए पुलिस और बम निरोधक दस्ते को भेजा है। पुलिस ने कहा कि ऑफिस के मेल रूम में मिले इस पैकेट के अंदर बम डिवाइस है। उसमें तार और पाइप लगे हैं। सीएनएन के प्रेसिडेंट जेफ जुकर ने बताया कि आशंका को देखते हुए विश्व में मौजूद सीएनएन के सभी कार्यालयों की तलाशी ली जा रही है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने कहा, 'हम ओबामा, क्लिंटन और दूसरे लोगों पर हमलों के प्रयासों की कड़ी निंदा करते हैं। जो भी इनके लिए जिम्मेदार होगा, उसे कानून के अनुसार सजा दी जाएगी। अमेरिका की सीक्रेट सर्विस और दूसरी जांच एजेंसियां इसकी जांच कर रही हैं।

संयुक्त राष्ट्र में बोले ट्रंप, भारत में आजाद समाज, लाखों लोग निकले गरीबी रेखा से बाहर

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने अपनी बेटी को बताया 'डायनामाइट'


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.