Rohit Shetty on Hollywood action: 'हम भी शूट कर सकते हैं हॉलीवुड जैसा एक्शन'

Rohit Shetty on Hollywood action इस बात में कोई शक नहीं है कि कुछ सालों में बॉलीवुड एक्शन मूवीज की क्वालिटी में बड़ा बदलाव आया है और यह काफी बेहतर हुई हैं पर क्या यह कभी हॉलीवुड की बराबरी कर पाएंगी? इसका जवाब दे रहे हैं जबरदस्त एक्शन मूवीज बनाने वाल फिल्ममेकर रोहित शेट्टी।

Updated Date: Sat, 01 Feb 2020 12:38 PM (IST)

कानपुर (फीचर डेस्क)। Rohit Shetty on Hollywood action: रोहित शेट्टी का कहना है कि इंडियन फिल्ममेकर्स के पास विजन तो है, लेकिन बजट की कमी की वजह से वे हॉलीवुड जैसी जबरदस्त एक्शन मूवीज नहीं बना पाते। 'गोलमाल' सीरीज, 'सिंघम' और 'सिंबा' जैसी ब्लॉकबस्टर कॉप मूवीज देने वाले रोहित कहते हैं कि आजकल मेकर्स हॉलीवुड का क्रू इसलिए हायर करते हैं ताकि वे उस स्केल को मैच कर सकें। उनके मुताबिक, 'हमारे पास बजट कम पड़ जाता है। ऐसा नहीं है की हम उस तरह के सीक्वेंस शूट नहीं कर सकते पर पैसों का मसला फंसता है। हमारे पास वैसा बजट नहीं होता है। हालांकि, अगर आप आजकल की मूवीज देखेंगे तो वह हॉलीवुड के बराबर ही लगेंगी क्योंकि वहां का क्रू यहां काम करने आता है।तीसरी इंस्टॉलमेंट लाने में देर क्यों?
विल स्मिथ और मार्टिन लॉरेंस स्टारर हॉलीवुड कॉप- एक्शन कॉमेडी 'बैड ब्वॉयज फॉर लाइफ' के इंंडियन फेस बनाए गए रोहित का मानना है कि इस फ्रेंचाइजी के काफी फैन मौजूद हैं, ऐसे में यह बात समझ से परे है कि आखिर इसकी तीसरी इंस्टॉलमेंट आने में इतना वक्त क्यों लग गया।


इस फिल्ममेकर ने कहा, 'मुझे लगता है कि तीसरा पार्ट बनाने में उन्होंने बहुत ज्यादा वक्त ले लिया। मैं हमेशा यह सोचा करता था कि वे ऐसा क्यों कर रहे हैं क्योंकि पहली दो मूवीज ने लोगों को क्रेजी कर दिया था।'उनकी शानदार केमिस्ट्री है सक्सेस की वजहवहीं फिल्म के लीड स्टार स्मिथ का मानना है कि उनकी और मार्टिन की केमिस्ट्री के चलते ही यह फ्रेंचाइजी आज इतने सालों बाद भी पॉपुलर है। अगर उनकी मानें तो, 'ये केमिस्ट्री कभी खत्म होने वाली नहीं है। केमिस्ट्री ही सबसे अहम चीज होती है जो उनके लिए काम कर रही है और आज भी उसने इस सीरीज को रेलेवेंट रखा है।'बॉलीवुड को नुकसान ?जब भी कोई हॉलीवुड मूवी बड़े पर्दे पर आती है तो बातें की जाने लगती हैं कि वह इंडियन मूवीज का बिजनेस खराब कर जाएगी। हालांकि, रोहित शेट्टी कहते हैं ́ कि अगर आप हमारा रेशियो देखें तो हम साल में 260 मूवीज रिलीज करते हैं, जिनमें से मैक्सिमम 20 मूवीज अच्छा परफॉर्म करती हैं। हमें इस बात की चिंता नहीं करनी चाहिए कि वे हमारा बिजनेस खा रही हैं। हमें अपना बिजनेस बढ़ने के बारे में सोचना चाहिए।'features@inext.co.in

Posted By: Molly Seth
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.