'फज' को आज भी है सुशांत सिंह राजपूत के आने का इंतजार, अभिनेता भी करते थे बेइंतहा प्यार

Updated Date: Sun, 09 Aug 2020 02:46 PM (IST)

सुशांत सिंह राजपूत की माैत के एक महीने बाद भी फज उनके आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। वह सुशांत सिंह राजपूत की एक झलक पाने काे बेकरार है। सुशांत सिंह की भांजी ने इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करके दी है।


मुंबई अगस्त (आईएएनएस)। बाॅलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन से उनके फैंस और करीबी काफी सदमे में हैं। हालांकि अब उन्होंने इस सच को स्वीकार कर लिया है कि सुशांत अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन फज को अभी भी उनके आने का इंतजार है। सुशांत सिंह राजपूत की माैत को एक महीने से अधिक का समय बीत गया है लेकिन 'फज अभी भी उम्मीद भरी निगाहों से दरवाजे की ओर देखता रहता है। वह हर बार दरवाजा खुलने पर इस उम्मीद से देखता है कि शायद अब सुशांत सिंह राजपूत आ गए हैं। सुशांत की भांजी मल्लिका ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया
फज द्वारा सुशांत के आने के इंतजार किए जाने का वीडियो सुशांत सिंह राजपूत की भांजी मल्लिका ने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया। उसने लिखा कि हम फज को लंबे समय से देख रहे हैं कि वह सुशांत सिंह राजपूत के कमरे में प्रवेश की प्रतीक्षा कर रहा है। मल्लिका ने वीडियो के साथ कैप्शन लिखा वेटिंग फाॅर हिज मास्टर। अभिनेता सुशांत भी अपने पालतू ब्लैक लैब्राडोर डाॅगी फज को बहुत प्यार करते थे। 34 वर्षीय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को 14 जून को उनके बांद्रा स्थित आवास पर लटका पाया गया था।


बिहार पुलिस से केस डायरी और संबंधित दस्तावेज एकत्र किएबता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या के मामले में सीबीआई ने बिहार पुलिस से केस डायरी और संबंधित दस्तावेज एकत्र किए हैं। अधिकारियों का कहना है, प्रक्रिया के अनुसार दस्तावेज जांच अधिकारी एएसपी अनिल कुमार यादव को सौंप दिए गए। मामले की जांच जारी है। इस मामले में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती और उसके परिजनों के खिलाफ कथित आपराधिक साजिश और आत्महत्या के लिए उकसाना और अपहरण की एफआईआर दर्ज की गई थी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.