मधुबनी रैली में आज Pm मोदी ने जंगलराज और जंतर-मंतर पर ऐसे साधा निशाना

बिहार चुनाव के चौथे चरण का मतदान जारी है। इस बीच पांचवे और अंतिम चरण के लिए मधुबनी में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने एक बार फिर महागठबंधन पर हमला बोला। उनका कहना है कि बिहार को गढ़े से निकालने के लिए दो इंजन चाहिए। दिल्‍ली में तो आपने इंजन लगा दिया है। बिहार में भी इंजन लगा दें।

Updated Date: Sun, 01 Nov 2015 04:04 AM (IST)

महिलाओं ने मेमोरेंडम दियामधुबनी में आज रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने लालू यादव और नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोला। इस दौरान उन्होंने कुछ महिलाओं द्वारा सौंपा गया ज्ञापन दिखाया और कहा कि जिस धरती पर लोग बाहर से ज्ञान लेने आते थे वहां की महिलाओं को लालू यादव ने अशिक्षित रखा। मिथिला की धरती विद्यापति की है। यहां की मिथिला पेंटिंग विश्व में प्रसिद्ध है। कर्पूरी गांव की कुछ महिलाओं ने एक मेमोरेंडम दिया है। इसमें उन्होंने उन्हें बताया है कि सरकार उन्हें उनकी जगह से हटा रही है। इन लोगों की सुनवाई करने वाला कोई नहीं है इसलिए उन्हें प्रधानमंत्री के पास आना पड़ा। मेमोरेंडम में सभी ने अंगूठा लगाया है। धरती से नालंदा की गूंज उठी
खुशी होती, अगर वे हस्ताक्षर करतीं। जिस धरती से नालंदा की गूंज उठी थी, उस धरती पर हमारी माताएं-बहनें अंगूठा लगाने को मजबूर हैं। यह दस्तावेज है इनकी विफलता का। लालू, नीतीश व कांग्रेस ने शिक्षा को बर्बाद किया। उन्होंने आगे कहा कि डेढ़ सौ साल पहले मॉरिशस गए बिहारी मजदूरों ने उस देश का कितना विकास कर दिया। बगल में झारखंड भी तो बिहार में ही था। वहां भाजपा के शासन में वह देश के 10 राज्यों में शामिल हो गया। यहां के नेताओं ने बिहार को बर्बाद कर दिया। ये नेता यहां बोझ बनका बैठे हैं। ऐसे में अब उनका भरोसा बिहार के नौजवानों पर है। बिहार की जनता पर है। बिहार में बी मतलब है ब्रिलियंट, अाई का मतलब है इनोवेटिब, एच मतलब हार्ड वर्किग, ए मतलब एक्शन ओरिएंटेड तथा आर मतलब रिसोर्ससफुल। यह बिहार की ताकत है।जंतर-मंतर में भरोसा नहीं


लालू-नीतीश पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि वह जंतर-मंतर में भरोसा नहीं करते। वह तो लोकतंत्र पर भरोसा करते हैं। जिन्हें लाेकतंत्र में भरोसा नहीं वे कहां जाएं। बीमारी जब डॉक्टर ठीक न कर सके, हर तरफ से निराशा हाथ लगे तो लोग कहां जाएं। ऐसे लोग ही जंतर मंतर करते हैं नीतीश बाबू। पहले जंगलराज था। उनको अब नया जुड़वा भाई मिल गया। यह जंतर-मंतर राज है। दोनों मिलकर बिहार को बर्बाद कर देंगे। राज्य में पर्यटन पर बोलते हुए कहा कि बिहार में पर्यटन की संभावनाएं हैं। पर्यटन में बड़ी ताकत होती है। सभी की कमाई हाती है। ज्यादा पूजी भी नहीं लगती। पटना साहब में विश्व भर से लोग आना चाहते हैं। रामायन सर्किट, बौद्य सर्किट आदि। पर्यटन के लिए हमने छह सौ करोड़ दिया है। बिहार के विकास के लिए 1.65 लाख करोड़ भी दिया।

inextlive from Business News Desk

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.