आगरा में ट्रिपल मर्डर, शव जलाने की कोशिश

Updated Date: Mon, 31 Aug 2020 03:25 PM (IST)

आगरा में एक दंपत्ति और बेटे के हाथ-पैर बांधकर हत्या करके शव जला दिए गए। सूचना के बाद मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। पुलिस सीसीटीवी से सुराग खंगालने की कोशिश कर रही है।

आगरा (ब्यूरो)। आगरा में ट्रिपल मर्डर की घटना सामने आई है। एत्माद्दौला थाना क्षेत्र के नगलाकिशन लाल इलाके में एक ही परिवार के तीन लोगों की सोमवार तड़के बेरहमी से हत्या कर दी गई। बाद में, तीनों शवों को आग लगाकर हादसे का रूप देने की कोशिश की गई, लेकिन सुबह आसपास के लोगों को धुआं उठता दिखा तो वह मौके पर पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। फौरन पुलिस को सूचना दी। मौके पर पुलिस के अधिकारियों ने पहुंचकर तफ्तीश शुरू की। एडीजी अजय आनंद, आइजी ए सतीश गणेश और एसएसपी बबलू कुमार मौके पर पहुंच गए। फोरेंसिक टीम को जांच के लिए बुला लिया गया।
हाथ-पैर बांधकर घोंटा गला
एत्माद्दौला के नगला किशनलाल में रविवार रात दिल दहला देने वाली घटना हुई। घर में सो रहे दंपती और उनके जवान बेटे की हत्या कर उनके शव जलाने की कोशिश की गई। उनके हाथ पैर और चेहरे पर टेप और पॉलीथिन लगी थी। घर से सामान भी गायब बताया जा रहा है। हत्या की वजह अभी स्पष्ट नहीं है। मूलरूप से मथुरा में बल्देव के चौड़ा बंबा निवासी 57 वर्षीय रामवीर करीब 30 वर्ष से नगला किशनलाल में रह रहे थे। तीन कमरों के घर में बाहर के कमरे में परचून की दुकान करते थे।

घर पर थी परचून की दुकान
परिवार में रामवीर के साथ उनकी 55 वर्षीय पत्नी मीरा और बेटा 23 वर्षीय बबलू था। घर पर परचून की दुकान थी। सुबह पांच बजे ही दुकान खुल जाती थी, लेकिन सोमवार सुबह देर तक दुकान नहीं खुली तो परिचित के लोग घर पहुंच गए तो परिवार के तीनों लोग मृत पड़े मिले। पुलिस को आशंका है कि तीनों की हत्या गला घोंटकर की। इसके बाद गैस सिलेंडर से आग लगाने की कोशिश की है, क्योंकि जिस कमरे में तीनों के शव मिले हैं, उसमें रखे गैस सिलेंडर से पाइप निकला पड़ा है। तीनों अलग-अलग कमरों में सोते थे। सोमवार को एक ही कमरे में शव मिले हैं।
भाई ने जताई लूट की आशंका
भाई रघुवीर ने बताया कि घटना के पीछे लूट भी हो सकती है। घर से कुछ सामान गायब दिख रहा है। रामवीर ने बेटे की रेलवे में नौकरी के लिए एक वर्ष पहले अपना एक प्लाट बेचा था। वह कैश भी घर में रखता था। परिवार के तीनों सदस्यों की हत्या हो गई है, इसलिए इसकी जानकारी करने में समय लगेगा।
फौजी को लिया हिरासत में
मृतक के बेटे बबलू की रेलवे में नौकरी के लिए पिता रामवीर ने फौजी को 12 लाख रुपये दिए थे। नौकरी नहीं लगने पर पैसे वापस मांग रहा था। इसी बात को लेकर तीन दिन पहले दोनों में कहासुनी हुई थी। पुलिस ने इसी को आधार बनाते हुए फौजी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।
यह बोले अधिकारी
आगरा ज़ोन के एडीजी अजय आनंद ने बताया कि तीन व्यक्तियों की हत्या हुई है और हत्या करके उनके शव को जलाने का प्रयास किया गया है। जांच शुरू हो गई है। फोरेंसिक टीम को जांच के लिए बुला लिया गया। वहीं, एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि अभी घटना से जुड़े सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।
agra@inext.co.in

Posted By: Satyendra Kumar Singh
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.