बरेलियंस दें ध्यान, आज बदला रहेगा शहर का रूट प्लान

Updated Date: Thu, 11 Mar 2021 05:56 PM (IST)

फ्लैग- पीएसी और पुलिस फोर्स की निगरानी में निकलेगी शोभायात्रा

- एसएसपी ने कराए सुरक्षा के इंतजाम, संदिग्धों व बवालियों पर रहेगी पुलिस की नजर

- यात्रा में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं की संख्या रखी जाएगी सीमित, कड़ी सुरक्षा रहेगी

बरेली: थर्सडे यानि आज शिवरात्रि पर शहर का रूट प्लान चेंज रहेगा। बरेलियंस को परेशानी न हो इसके लिए वेडनसडे शाम 6 बजे से थर्सडे शाम बजे रूट डायवर्जन किया गया है। इस दौरान बड़े वाहनों की शहर में एंट्री नहीं होगी। साथ ही वाहनों की चेकिंग भी की जाएगी। वहीं शहर में जगह-जगह पर पुलिस पिकेट व ट्रैफिक पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए हैं।

इन रूट्स पर डायवर्जन

रामगंगा तिराहा

मिनी बाईपास तिराहा

सैटेलाइट तिराहा

बीसलपुर चौराहा

इनवर्टिस तिराहा

विलयधाम बड़ा बाईपास

बिलवा पुल

यह है रूट प्लान

- दिल्ली-रामपुर रोड से आने वाले व बदायूं रोड जाने वाले बड़े वाहनों को परसाखेड़ा तिराहे से बड़ा बाईपास से इनवर्टिस से फरीदपुर से दातागंज होते हुए निकाला जाएगा।

- लखनऊ की तरफ से बरेली होकर दिल्ली जाने बड़े वाहनों को बड़ा बाईपास से निकाला जाएगा।

- पीलीभीत से बदायूं जाने वाले वाहन विलयधाम से बड़ा बाईपास से इनवर्टिस तिराहा से फरीदपुर व दातागंज से होकर निकाले जाएंगे।

- नैनीताल रोड से बदायूं जाने वाले वाहन बिलवापुल से बड़ा बाईपास, फरीदपुर व दातागंज होकर जाएंगे।

- हार्टमन ओवरब्रिज से कोई भी टैक्सी वाहन अलखनाथ मंदिर किला की तरफ नहीं आ सकेगा।

- किला क्रांिसग से अलखनाथ मंदिर की तरफ जाने पर भी वाहनों पर प्रतिबंध रहेगा।

- रामगंजा की तरफ से टैक्सी वाहन चौपुला ओवरब्रिज की तरफ नहीं आ सकेंगे।

- सेटेलाइट से भी कोई बड़ा वाहन पीलीभीत रोड की तरफ नहीं जा सकेगा।

सुरक्षा के साथ शोभयात्रा

महाशिवरात्र्रि पर पीएससी व पुलिस फोर्स की कड़ी सुरक्षा के बीच शोभा यात्राएं निकली जाएंगी। वहीं कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने क्षेत्राधिकारियों से यात्रा में शामिल होने वाले लोगों के संख्या भी सीमित रखने के साथ ही ऐसा न होने पर सख्त कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।

कछला-हरिद्वार से जलाभिषेक

बरेली को नाथ नगरी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसे में श्रद्धालु कांवरिए गंगा, हरिद्वार, कछला, गढ़ मुक्तेश्वर व अन्य पवित्र जलाश्यों से जल लेकर पूजा व अभिषेक के लिए लेकर आते हैं। ऐसे में पुलिस-प्रशासन से शहर आने वाले ऐसे श्रद्धालुओं के लेकर सुरक्षा व्यवस्थाएं की हैं। साथ ही इनके रूट को लेकर निश्चित करते हुए सुरक्षा के इंतजाम भी किए गए हैं। कछला घाट से जल लेकर आने वाले कांवरिए बदायूं, भमोरा, देवचरा व रामगंगा से होकर शहर में आएंगे। वहीं गढ़ मुक्तेश्वर घाट व हद्विार से आने वालों के लिए रामपुर-मीरगंज, फतेरगंज पश्चिमी-सीबीगांज-किला का रास्ता तय है। इन्हीं रास्तों से श्रद्धालु शहर पहुंचकर तमाम शिव मंदिरों तक जाते हैं। इन रास्तों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.