वीआईपी पर कमेंट्स, बढ़ी खुफिया निगरानी

Updated Date: Sun, 07 Jun 2020 09:15 AM (IST)

-लगातार आ रही शिकायतों को देखते हुए उठाया कदम -मुकदमा दर्ज कर पुलिस करेगी गिरफ्तारी होगी कार्रवाई GORAKHPUR: सोशल मीडिया पर किसी तरह की उल जुलूल हरकतें भारी पड़ सकती है. किसी अभद्र आपत्तिजनक और सामाजिक द्वेष फैलाने वाली टिप्पणी पर जेल जाने की नौबत आ जाएगी. सोशल मीडिया पर लगातार आपत्तिजनक बात

-लगातार आ रही शिकायतों को देखते हुए उठाया कदम

-मुकदमा दर्ज कर पुलिस करेगी गिरफ्तारी, होगी कार्रवाई

GORAKHPUR: सोशल मीडिया पर किसी तरह की उल जुलूल हरकतें भारी पड़ सकती है। किसी अभद्र, आपत्तिजनक और सामाजिक द्वेष फैलाने वाली टिप्पणी पर जेल जाने की नौबत आ जाएगी। सोशल मीडिया पर लगातार आपत्तिजनक बातें करने वालों की निगरानी पुलिस कर रही है। शहर में हाल में सामने आए मामलों को देखते हुए पुलिस के सोशल मीडिया वालंटियर्स लोगों की प्रोफाइल पर नजर रख रहे हैं। गोपनीय तरीके से ऐसे लोगों को चिह्नित किया जा रहा है, जो बेवजह किसी भी मामले को तूल देकर माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। एसएसपी का कहना है कि सोशल मीडिया पर किसी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की शिकायत पर पुलिस कार्रवाई कर रही है।

वीआईपी पर टिप्पणी करने वालों पर नजर

हाल के दिनों में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बातें कहने की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खिलाफ अपमानजनक बात कहने पर कैंट पुलिस ने आरोपित को अरेस्ट किया। इसके पूर्व गोरखपुर के सांसद रवि किशन के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने के आरोपित को पुलिस ने रामगढ़ताल एरिया से अरेस्ट किया था। दोनों मामलों की जांच में सामने आया कि कई लोग बेवजह ही माहौल खराब के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी करते हैं। इससे शांति भंग की आशंका रहती है। विभिन्न दलों, पार्टियों, उनसे जुड़े कार्यकर्ताओं के बीच द्वेष फैलाने के लिए अभद्र कमेंट्स करते हैं। ऐसे मामलों को देखते हुए पुलिस ने राजनीतिक दलों, उनके प्रमुख नेताओं, सांसदों, विधायकों, अन्य जनप्रतिनिधियों, विभिन्न पार्टियों के पदाधिकारियों की सोशल मीडिया प्रोफाइल पर नजर रखना शुरू कर दिया है।

क्या कदम उठा रही पुलिस

- सोशल मीडिया प्रोफाइल खंगालकर माहौल खराब करने वालों को पुलिस चिन्हित कर रही है।

- फेंक आईडी और फर्जी प्रोफाइल बनाकर आपत्तिजनक बातें करने वालों की लिस्ट तैयार की जा रही है।

- वर्ग,जाति, समुदाय और धर्म को लेकर को लेकर भड़काऊ मैसेज देने, लोगों का ब्रेन वॉश करने वाले लोगों की निगरानी

-किसी विशिष्ट व्यक्ति के खिलाफ आपत्तिजनक बात कहने, अभद्र और अमर्यादित, विवादित टिप्पणी करने वालों की निगरानी हो रही है।

सपा ने किया अलर्ट, सोशल मीडिया पर बरतें संयम

सोशल मीडिया पर किसी तरह की टिप्पणी करने के संबंध में सपा जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी ने सजग किया है। उन्होंने कहा है कि सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार की अभद्र, अमर्यादित और विवादित टीका टिप्पणी से बचें। अपनी भाषा में सम्मान, शालीनता ओर सभ्यता को प्रमुखता दें। सपा जिलाध्यक्ष का मैसेज भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। सपा के लोगों का कहना है कि सोशल मीडिया के संबंध में यह गाइडलाइन पार्टी की तरफ से जारी की गई है।

हाल में अभद्र टिप्पणी मामले में हुई कार्रवाई

03 जून 2020: पूर्व सीएम अखिलेश सिंह यादव के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में पुलिस ने आरोपित पंकज गिरी को अरेस्ट किया।

02 मई 2020: पीएम और सीएम के खिलाफ अभद्र बात कहने की शिकायत गगहा थाना में दर्ज कराई गई। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की।

01 मई 2020: गोरखपुर के सांसद रवि किशन के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी, आरोपित अमित निषाद के खिलाफ कार्रवाई, मुकदमा दर्ज हुआ।

03 अप्रैल 2020: चौरीचौरा एरिया के बिलारी मठिया निवासी सत्यवान यादव के खिलाफ मुकदमा, अभद्र टिप्पणी के मामले में कार्रवाई।

यह बरतें सावधानी

- सोशल मीडिया के प्लेटफार्म का इस्तेमाल करते समय संयम बरतें।

- किसी मुद्दे पर अपनी राय, विचार, कमेंट्स शालीनता से व्यक्त करें।

- किसी धर्म, समुदाय, जाति या संप्रदाय में विद्वेष फैलाने से संबंधित कोई टिप्पणी न करें।

- विशिष्ट व्यक्तियों के संबंध में अपनी बात मर्यादित तरीके से कहें, अपशब्द या आपत्तिजनक शब्दों का कतई प्रयोग न करें।

- सोशल मीडिया पर कोई भड़काऊ पोस्ट या कमेंट न करें। विवादित टीका-टिप्पणी से परहेज करें।

- अपनी पोस्ट या कमेंट के दौरान सम्मान, शालीनता और सभ्यता को प्रमुखता दें।

वर्जन

बहुत से लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस पर किसी तरह का कमेंट, पोस्ट करते समय बेहद ही सावधानी बरतनी चाहिए। यदि किसी की भावना आहत होती है तो आईटी एक्ट की कार्रवाई होती है। लेकिन यदि देश के खिलाफ कोई टिप्पणी की है तो देश द्रोह का मामला भी बनेगा।

शक्ति प्रकाश श्रीवास्तव, सीनियर एडवोकेट

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक बात करने, लोगों की भावनाओं को भड़काने और सामाजिक विद्वेष फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हाल के दिनों में कई मुकदमे दर्ज कर आरोपितों को अरेस्ट किया गया है।

डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.