बीआरडी में बढ़ी सख्ती, सिर्फ मरीजों को मिलेगी एंट्री

2020-05-09T05:30:14Z

- बीआरडी मेडिकल कॉलेज कैंपस में डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा किसी के घूमने पर होगी कार्रवाई

GORAKHPUR: बीआरडी मेडिकल कॉलेज में गोरखपुर मंडल के चार जिलों के कुल 9 कोरोना पेशेंट्स के एडमिट होने पर सख्ती बढ़ा दी गई है। डीएम के विजयेंद्र पांडियन खुद बीआरडी प्रिंसिपल डॉ। गणेश कुमार से पल-पल की रिपोर्ट ले रहे हैं। वहीं बीआरडी प्रशासन ने जिला प्रशासन के आदेश पर कैंपस में आने वाले मरीजों के तीमारदारों पर बैन लगा दिया है। सिर्फ मरीज के साथ एक अटेंडेंट ही भीतर प्रवेश कर सकेगा। साथ ही जिला प्रशासन ने भी रेड जोन जैसी सख्ती की बात कही है।

कैंपस में होंगे सिर्फ डॉक्टर व स्टाफ

बीआरडी मेडिकल कॉलेज प्रशासन की तरफ से मरीजों के तीमारदारों पर बैन लगाने के बाद शुक्रवार सुबह से ही मेन गेट पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड और तीमारदारों के बीच बहस होती नजर आई। हालांकि कुछ देर बाद परिजन मान गए। किसी को भी कॉलेज प्रीमाइसिस में जाने की परमिशन नहीं है। इसके अलावा मेडिकल कॉलेज के पिछले हिस्से में हाइडिल के पास दीवार को ऊंचा करने के साथ ही दूसरी क्षतिग्रस्त दीवार को दुरुस्त कराया जाएगा। बता दें, यह डिसीजन गुरुवार को डीएम के विजयेंद्र पांडियन और एसएसपी डॉ। सुनील गुप्ता के इंस्पेक्शन के बाद लिया गया है। दोनों अधिकारी सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में बने 200 बेड के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने पहुंचे थे। वार्ड में कोरोना संक्रमित आठ मरीजों का इलाज चल रहा था। नौवां मरीज शुक्रवार को देवरिया से एडमिट किया गया। प्रिंसिपल डॉ। गणेश कुमार ने बताया कि आइसोलेशन वार्ड में डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों के अलावा किसी को भी प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। अगर कॉलेज कैंपस में कोई बेवजह घूमता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कैंपस रेड जोन घोषित हो चुका है। ऐसे में केवल डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी और मरीज ही कैंपस में आ-जा सकते हैं।

पब्लिक के लिए चलेगी प्रीपेड टैक्सी

वहीं डीएम ने मरीजों और तीमारदारों के लिए मेडिकल कॉलेज से प्रीपेड टैक्सी चलाने का निदेज्श दिया है। इसके लिए मेडिकल कॉलेज गेट के पास प्री-पेड टैक्सी बूथ भी बनाया जाएगा। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस व आरटीओ के कर्मचारी मरीजों और तीमारदारों का सहयोग करेंगे। आरटीओ विभाग किराया निर्धारित करेगा। तीमारदार के पास एक पर्ची, एक ड्राइवर के पास और वहां मौजूद कर्मी के पास एक पर्ची रहेगी।

वर्जन

बीआरडी मेडिकल कॉलेज कैंपस में बेवजह घूमते पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। मरीज के साथ तीमारदारों की एंर्टी नहीं होगी।

डॉ। गणेश कुमार, प्रिंसिपल, बीआरडी मेडिकल कॉलेज

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.