राजधानी में संक्रमितों की संख्या घटकर हुई 580, 853 डिस्चार्ज

Updated Date: Sat, 26 Sep 2020 09:48 AM (IST)

- संक्रमण की वजह से 9 मरीजों की मौत

- 10626 लोगों के सैंपल लिए गए

LUCKNOW: राजधानी में बीते कई दिनों से संक्रमितों की संख्या में बड़ी गिरावट देखी जा रही है। पहले जहां हजार से अधिक संक्रमित मिल रहे थे। अब वहीं संक्रमितों की संख्या घटकर शुक्रवार को 580 पर आ गई है जबकि लगातार बड़ी संख्या में लोग संक्रमण से ठीक हो रहे हैं, जहां 853 मरीजों ने कोरोना को मात दी। वहीं दूसरी ओर संक्रमण की वजह से 9 मरीजों की मौत हो गई।

यहां मिले संक्रमित

राजधानी के आशियाना में 29, इंदिरानगर में 48, आलमबाग में 23, ठाकुरगंज में 11, तालकटोरा में 14, हसनगंज में 18, गोमती नगर में 49, हजरतगंज में 20, मडि़यांव में 21, रायबरेली रोड में 30, अलीगंज में 26, जानकीपुरम में 22, महानगर में 18, चौक में 26, चिनहट में 14, नाका में 15, विकासनगर में 10, वृंदावन योजना में 12, गोमतीनगर विस्तार में 11 और सुशांत गोल्फ सिटी में 10 समेत अन्ये इलाकों में पॉजिटिव रोगी पाये गये हैं।

10626 सैंपल लिए गए

कोविड प्रोटोकाल के तहत कुल 172 रोगियों को हॉस्पिटल का आवंटन किया गया, जिसमें से 172 सभी रोगियों के लिए एंबुलेंस का आवंटन भी कर दिया गया। देर शाम तक 123 रोगियों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा चुका है बाकी 49 रोगियों द्वारा होम आईसोलेशन के लिए अनुरोध करके एंबुलेंस को लौटा दिया गया। इस समय 6962 मरीज एक्टिव होम आइसोलेशन में हैं। इसके अलावा सर्विलांस एवं कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर टीमों द्वारा 10626 लोगों के सैंपल लिये गये हैं।

183 मरीजों ने लिया परामर्श

कोविड 19 कंट्रोल रूम से होम आइसोलेशन के 4806 मरीजों से फोन के माध्यम से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली गई। इसके साथ ही कोविड कंट्रोल रूम में हेलो डॉक्टर सेवा में 183 मरीजों द्वारा स्वास्थ संबंधी परामर्श लिया गया। हेलो डॉक्टर सेवा मे 0522.3515700 कोविड संबंधित स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। कोविड कमांड कंट्रोल रूम लखनऊ 0522 4523000 व 0522 2610145 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.