रैपिड रेल के लिए सुपरफास्ट निर्देश

Updated Date: Sun, 02 Feb 2020 05:45 AM (IST)

कमिश्नर ने की आरआरटीएस के कायरें की समीक्षा, विभागों को जल्दी पेंडिंग काम निपटाने को कहा

2025 मार्च तक पूरा हो जाएगा रैपिड का काम

2023 मार्च से कर सकेंगे साहिबाबाद से दुहाई का सफर

रैपिड एक नजर में

82 किमी। का ट्रैक

14 किमी। अंडग्राउंड

9 कोच की ट्रेन होगी

6 कोच की शुरुआत में

180 किमी.प्रतिघंटा स्पीड

160 किमी। स्पीड होगी पहले

24 स्टेशन कालेखां से मोदीपुरम तक

Meerut। मंडल की कमिश्नर अनीता सी। मेश्राम ने रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) के कार्यो की समीक्षा करते हुए शनिवार को आदेश दिए कि प्रत्येक कार्य की समय-सीमा निर्धारित की जाए तथा सभी संबंधित विभाग के अधिकारी परस्पर समन्वय के साथ कार्य करें।

डेडलाइन तय हुई

आयुक्त सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कमिश्नर ने बताया कि आरआरटीएस का काम 8 पैकेज में किया जा रहा है। एनसीआरटीसी (नेशनल कैपिटल रीजनल ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन) ने काम पूरा करने की तारीख मार्च 2025 तय की है। इसमें से साहिबाबाद से दुहाई तक का काम मार्च 2023 तक पूरा करने की समयसीमा है। इस पर कुल लागत लगभग 32 हजार करोड़ रुपये आएगी।

24 घंटे चल रहा काम एनसीआरटीसी के प्रोजेक्ट डायरेक्टर अनिल कुमार संगारिया ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने दिसंबर 2019 से केवल एनसीआरटीसी को 24 घंटे काम करने की अनुमति दी है। साहिबाबाद से दुहाई तक कुल 17 किमी। पर काम चल रहा है, जिसमें से 5 किमी काम पूरा हो गया है। दुहाई से शताब्दी नगर तक, सराय काले खां से साहिबाबाद तक, शताब्दी नगर से मोदीपुरम तक अलग-अलग हिस्सों में काम होगा। दुहाई और मोदीपुरम में डिपो का काम भी अलग-अलग हिस्सों में होगा।

तुरंत दिलाएं जमीन

कमिश्नर ने चार प्राथमिकता वाले स्टेशनों में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर व दुहाई में भूमि की उपलब्धता के संबंध में संबंधित विभाग को तुरंत जमीन उपलब्ध कराने को कहा। दुहाई में इस संबंध में आ रही समस्या एक सप्ताह में दूर करनी होगी। बताया गया कि कुल 24 हाईटेंशन लाइनें शिफ्ट की जाएंगी, जिनमें से 13 हो चुकी हैं। शेष को जल्दी शिफ्ट करने के लिए एनसीआरटीसी व विद्युत विभाग के अधिकारियों को बैठक करने के निर्देश दिए गए। इसी तरह, कुल 3986 पेड़ों में से 500 कटने बाकी रह गए हैं।

ये रहे मौजूद

इस अवसर पर जिलाधिकारी मेरठ अनिल ढींगरा, जिला वन अधिकारी अदिति शर्मा, उपाध्यक्ष एमडीए राजेश कुमार पांडेय, मुख्य अभियंता जीडीए वी.एन। सिंह, मुख्य अभियंता एनसीआरटीसी वीरेन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे।

मई तक चलेगा दिल्ली-मेरठ एक्सपे्रस-वे

कमिश्नरी में ही दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के काम की भी समीक्षा की गई। कमिश्नर ने इसके कामों को भी प्राथमिकता पर पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि दिल्ली मेरठ एक्सपे्रस-वे का काम 4 पैकेज में हो रहा है और एनएचएआई को काम को मई 2020 तक पूर्ण करने के लिए कहा गया है। उधर, मेरठ-बुलंदशहर एक्सपे्रस-वे के कायरें की समीक्षा करते हुये कमिश्नर ने काम अप्रैल 2020 तक पूरा करने को कहा। एनएचएआई के अधिकारी ने बताया कि इस एक्सप्रेस-वे पर गुलावठी से पहले एक टोल भी होगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.