फ्री ऑफ कास्ट लगेंगे हजारों के टीके

2018-11-02T06:01:13Z

दस दिसंबर से जिले में शुरू होने जा रहा अभियान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: जिले में अब वाकई हजारों की कीमत के टीके फ्री में लगेंगे। इस बार बच्चों व किशोरों में होने वाली घातक बीमारी मीजल्स रुबेला की वैक्सीन फ्री कॉस्ट लगाई जाएगी। पहली बार यह टीका स्वास्थ्य विभाग की ओर से दस दिसंबर से शुरू होने वाले अभियान के तहत लगाया जाएगा। इसके लिए जिले में बीस लाख बच्चे व किशोरों को चिन्हित करने के आदेश दिए गए हैं।

मार्केट में महंगी है कीमत

अभी तक सरकार की ओर से मीजल्स के टीके फ्री लगाए जाते थे लेकिन रुबेला का टीका उपलब्ध नहीं था। पहले इसे लगाया जाना है। अभियान के बाद यह टीका नियमित टीकाकरण में शामिल हो जाएगा। मार्केट में इस टीके की कीमत काफी अधिक है। इसलिए अधिकतर पैरेंट्स इसे बच्चों को लगवाने की हिम्मत नहीं जुटा पाते थे।

दस दिसंबर से चलने वाले अभियान में बच्चों को यह टीका लगाया जाएगा। इसके बाद इसे नियमित कार्यक्रम में शामिल कर लिया जाएगा। यह टीका अब नि:शुल्क लगाया जाएगा।

-डॉ। आलोक कुमार, एसएमएओ, स्वास्थ्य विभाग

-7.8 करोड़ बच्चों को यह टीका यूपी में लगाया जाना है।

-20 लाख बच्चों को प्रयागराज में चिन्हित किया जाना है।

-9 माह से लेकर 15 साल यह टीका तक के किशोरों को लगाया जा सकता है।

-50 फीसदी मौतें इंडिया में होती हैं पूरे दुनिया में होने वाली मौतों की

क्या है मीजल्स रुबेला

-रुबेला वायरस का खसरा वायरस से कोई संबंध नहीं है।

-इस रोग की जटिलताएं बच्चों की तुलना में वयस्कों में अधिक होती हैं।

-रोग का प्रमुख खतरा है कन्जेनिटल रुबेला सिंड्रोम, जो किसी महिला को गर्भावस्था के दौरान होने पर भ्रूण में पल रहे बच्चों को संक्रमित कर देता है।

-इससे बच्चों में बहरापन, आखों की खराबी, ह्रदय संबंधी बीमारी आदि हो सकती है।

-लालीपन, बुखार और शरीर में चकत्ता का होना जैसे लक्षण टीकाकरण के बाद देखने में आ सकता है। लेकिन इनसे घबराने की जरूरत नही है।

-रुबेला के लक्षणों में शामिल है बुखार, मिचली और प्रमुख रूप से गुलाबी या लाल चकत्तों के चेहरे पर निशान।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.