संजय राउत ने कहा विकास दुबे एनकाउंटर पर न उठाएं सवाल, सिब्बल बोले लिंक छुपाने के लिए मार डाला

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे की शुक्रवार सुबह पुलिस संग हुई मुठभेड़ में माैत हो गई हैं। इस मामले में अब पुलिस और उत्तर प्रदेश सरकार पर चाैतरफा सवाल उठाए जा रहे हैं। इस पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा पुलिस के एक्शन पर सवाल न उठाएं।

Updated Date: Fri, 10 Jul 2020 05:30 PM (IST)

मुंबई/नई दिल्ली (पीटीआई/आईएएनएस)। कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी हिसट्रीशीटर विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद विपक्ष ने यूपी सरकार और पुलिस को कठघरे में खड़ा कर दिया हैं। हालांकि इस बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि एक मुठभेड़ में गैंगस्टर विकास दुबे की हत्या पर आंसू बहाने की जरूरत नहीं है और आश्चर्य है कि पुलिस की कार्रवाई पर सवाल क्यों उठाए जा रहे हैं।पुलिस ने दावा किया है कि मध्य प्रदेश के उज्जैन से कानपुर लाते समय भाैती के पास गाड़ी पलट गई। इस दाैरान वह पुलिस से हथियार छुड़ाकर भागने की कोशिश कर रहा था तो मुठभेड़ में मारा गया है। पीटीआई से बात करते हुए राउत ने कहा विकास दुबे ने आठ पुलिसकर्मियों को मार डाला था। वर्दी पर हमला का मतलब कानून और व्यवस्था नहीं है। महाराष्ट्र हो या उत्तर प्रदेश हो सख्त कार्रवाई करना पुलिस की जरूरत है। इस मामले में आंसू बहाने की जरूरत नही है। क्या राजनीतिक संबंधों को कवर करने के लिए किया गया
वहीं कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को कहा कि गैंगस्टर विकास दुबे की हत्या की भविष्यवाणी कई व्यक्तियों ने की थी और सवाल किया कि क्या यह उनके कथित राजनीतिक संबंधों को कवर करने के लिए किया गया था। विकास मुठभेड़ में मारा गया। क्या यह विकास दुबे को कुछ पार्टियों और व्यक्तियों से जोड़ने वाले साक्ष्य को नष्ट करने की साजिश है? यूपी में राजनीतिज्ञ-पुलिस-आपराधिक सांठगांठ का पर्दाफाश होना चाहिए। एनकाउंटर किए जाने की आशंका जाहिर की गई थीबता दें कि कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर से कुछ घंटे पहले ही सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी।अधिवक्ता घनश्याम उपाध्याय द्वारा रात 2 बजे फाइल की गई याचिका में विकास दुबे का एनकाउंटर किए जाने की आशंका जाहिर की गई थी।समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुठभेड़ को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला किया। विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा थाकानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था। पुलिस की गाड़ी कानपुर के भौंती में इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुई। इस दाैरान विकास दुबे ने भागने की काेशिश की तो पुलिस एनकाउंटर में ढेर हो गया। 5 लाख के इनामी मोस्ट वांटेड गैंगस्टर विकास दुबे और उसके लोगों ने 3 जुलाई को उसे पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला कर आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.