वेंडर डेवलपमेंट मीट आज

2018-12-19T06:00:49Z

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: झारखंड सरकार और आदित्यपुर ऑटो कलस्टर द्वारा बुधवार को आदित्यपुर में वेंडर डेवलपमेंट मीट का आयोजन किया जाएगा। वेंडर मीट में रेलवे व डिफेंस की 20 कंपनियां हिस्सा लेंगी। इस कार्यक्रम का उद्घाटन झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास व रेल राज्यमंत्री राजेन होगेन करेंगे।

आदित्यपुर इंडस्ट्रीयल एरिया में लगभग 12 सौ कंपनियां हैं। इनमें से पांच कंपनियां डिफेंस को जबकि लगभग 10 कंपनियां रेलवे को माल सप्लाई करती है। जबकि अधिकतर कंपनियां टाटा मोटर्स पर निर्भर है। झारखंड में पहली बार रेलवे और डिफेंस की 20 कंपनियां शहर आ रही हैं। इस डेवलपमेंट मीट के तहत रेलवे व डिफेंस को किस तरह के माल व गुणवत्ता वाले माल की जरूरत है। इसका पूरा प्लान, ड्राइंग और सैंपल लेकर सरकारी कंपनियां आदित्यपुर पहुंच रही हैं। उम्मीद है कि इस डेवलपमेंट मीट से आयडा संचालित उद्योगों को प्रतिवर्ष एक हजार से 12 सौ करोड़ रुपये का काम मिलेगा। इस मीट में स्थानीय कंपनियों को रेलवे व डिफेंस को माल सप्लाई करने वाली एजेंसियों से सीधे जुड़ने, उनके साथ बातचीत कर नया व्यापार स्थापित करने का मौका मिलेगा।

आरडीएसओ का खुलेगा क्षेत्रीय कार्यालय

आदित्यपुर ऑटो कलस्टर के एमडी एसएन ठाकुर ने दावा किया कि इस डेवलपमेंट मीट के बाद झारखंड में रेलवे डिजाइन स्टैंडर्ड ऑर्गेनाइजेशन का क्षेत्रीय कार्यालय खुलेगा। इससे स्थानीय कंपनियों को सीधे रेलवे के नए प्रोजेक्ट पर लगने वाले सामानों की सप्लाई, उनकी गुणवत्ता सहित अन्य जानकारियां मिलेंगी। स्थानीय कंपनियों का माल चुने जाने पर उसे रेलवे को सप्लाई करने का भी आर्डर मिल पाएगा।

ये कंपनियां होंगी शामिल

ऑडिनेंस इक्वीपमेंट फैक्ट्री बोर्ड कोलकाता, हैवी व्हीकल फैक्ट्री, व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर, राइफल फैक्ट्री, ऑडिनेंस फैक्ट्री, रेलवे डिजाइन एंड सेनेटाइजेशन आर्गनाइजेशन, भारत अर्थ मूवर्स प्राइवेट लिमिटेड, इंट्रीगेटेड कोच फैक्ट्री, बीएमएल, साउथ ईस्टर्न रेलवे सहित अन्य।

स्थानीय कंपनियों को मौका

वेंडर डेवलपमेंट मीट से आयडा सहित झारखंड की सभी कंपनियों को रेलवे व डिफेंस सेक्टर में माल सप्लाई का मौका मिलेगा। यह मीट सरकारी एजेंसियों से जुडने का सुनहरा अवसर दे रहा है। सिंहभूम चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा मंगलवार को चैंबर भवन में आयोजित प्रेसवार्ता में आदित्यपुर ऑटो कलस्टर के एमडी एसएन ठाकुर ने ये बातें कहीं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में मात्र 15 से 20 कंपनियां ही रेलवे व डिफेंस को अपना माल सप्लाई करती है। लेकिन यहां कई ऐसी कंपनियां हैं जो कास्टिंग व फोर्जिग का काम करती है। टाटा मोटर्स को माल सप्लाई करने के कारण कंपनी का उत्पादित माल भी विश्वस्तरीय है। ऐसे में स्थानीय कंपनियों को इससे बहुत लाभ मिलने की उम्मीद है। वहीं, चैंबर अध्यक्ष अशोक भालोटिया ने बताया कि इस आयोजन में स्थानीय कंपनियों को रेलवे व डिफेंस के अधिकारियों के साथ सीधी व्यापारिक वार्ता (बी 2 बी) करने का मौका मिलेगा। इस कार्यक्रम में कई बाहरी कंपनियां भी हिस्सा ले रही हैं। प्रेसवार्ता में एशिया के उपाध्यक्ष राजीव रंजन, पूर्व उपाध्यक्ष संजय, प्रवीण गुटगुटिया, चैंबर के पूर्व अध्यक्ष सुरेश सोंथालिया, उपाध्यक्ष भरत वसानी, महासचिव विजय आनंद मूनका सहित अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.