Weekly Horoscope 29 Nov To 6 Dec: सिंह,तुला राशि वालों के लिए समय बहुत अच्‍छा है, वृष,मकर राशि वाले रहेंगे परेशान, जानें सभी राशियों का हाल

Updated Date: Thu, 03 Dec 2020 08:15 PM (IST)

Saptahik Rashifal: Weekly Horoscope in Hindi 29 November To 6 December 2020 : ज्योतिर्विद् और वास्तुविद् डॉ. त्रिलोकीनाथ जी ने 29 नवम्बर से 06 दिसम्बर 2020 तक के लिए समस्‍त राशियों का राशिफल विस्‍तारपूर्वक बताया है। जानें आपके लिए कैसा रहेगा यह सप्‍ताह। अपने नाम के पहले अक्षर के आधार पर राशि नाम जानकर यहां पढ़ें अपना वीकली राशिफल। सिंहतुलामीन राशि वालों के लिए बहुत अनुकूल समय है वृषमकर एवं वृश्चिक राशि के लिए समय तनावपूर्ण रहेगा। अन्य राशियों के लिए समय मिलाजुला रहेगा।

Weekly Horoscope in Hindi 29 November To 6 December : Saptahik Rashifal 2020: मेष (Aries): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय रहेगें।यद्यपि थोड़ा बहुत तनाव एवं स्वास्थ्य संबंधित चिंता हो सकती है। लेकिन इस राशि के जातक सक्रिय बने रहेगें। अपनी सूझ-बूझ एवं परिश्रम से स्थितियों को पटरी पर लाने में सफल होगें। कार्य व्यापार की भी स्थिति लगभग अनुकूल रहेगीं। प्रेम-प्रसंग से बचें। अधिक खर्च को भी नियन्त्रित रखें। हनुमान जी का दर्शन एवं दान से स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं।

वृष (Taurus): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय रहेगें। लेकिन विरोधी एवं प्रतिस्पर्धी अनावश्यक तनाव दे सकते है जिससे जातक मानसिक उलझन का सामना कर सकता है। विपरीत परिस्थितयों से बचें झगड़े फसाद या अनावश्यक क्रोध के कारण स्थितियाँ प्रतिकूल हो सकती है। इसलिए सोच-समझकर चलें कोई जोखिम न उठायें कार्य व्यापार में भी उतार-चढ़ाव की भी स्थिति रहेगीं। सावधानीपूर्वक कार्य करें। अपाहिजों क दान करने से स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं। और व्यवधानों में कमी आयेगीं।

मिथुन (Gemini): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय रहेगें। कार्य व्यापार में थोड़ा उतार-चढ़ाव के साथ गतिशीलता बनी रहेगी। व्यापार में कोई जोखिम न उठाये नहीं तो दबाव का सामना करना पड़ सकता है। यदि जातक सूझ-बूझ से व्यापार करेगा। तो लाभ की स्थितियाँ बनी रह सकती है। विद्यार्थियों का भी मन पढ़ाई-लिखाई में लगेगा। यद्यपि थोड़ी उलझनें या व्यवधान भी आयेगें। लेकिन सतर्कता से काम करने से स्थितियाँ अनुकूल होगीं। सूर्य को जल देने से राहत मिलेगीं।

कर्क (Cancer): इस सप्ताह इस राशि के जातक सप्ताह के प्रारम्भ में थोड़ा मानसिक एवं आर्थिक दबाव में रहेगें। कार्यों में शिथिलता बनी रहेगी। लेकिन सप्ताह के मध्य से स्थितियाँ पटरी पर आने लगेगीं। अचानक कार्य व्यापार में सुधार होगा। और बड़े लाभ की स्थिति भी बन सकती है। कोई कार्य जल्दबाजी या जोखिम वालें कार्यों से बचें। नहीं तो परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। प्रेम-प्रसंग में उतार-चढ़ाव के साथ आशा-निराशा के बीच संतोषजनक स्थितियाँ बनी रहेगीं। शिव जी का दर्शन एवं पूजा करने से स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं और कार्यों की गतिशीलता बढ़ेगी।

सिंह (Leo): इस सप्ताह इस राशि के जातकों का समय अनुकूल है। बड़े कार्यों की आधारशिला बनेगीं।जातक अपनी सूझ-बूझ कोई बड़ा प्रोजेक्ट या कोई बड़ा कार्य करने में सफल होगा। स्थितियाँ अनुकूल है। इसलिए जातक को निरन्तर प्रयासरत रहना चाहिए यदि जातक सरकारी सेवा में होगा। तो बड़े लाभ या अनुकूल जगह पर कार्य करने का अवसर मिल सकता है। व्यापार आदि की दृष्टि से भी सप्ताह अनुकूल है। बड़े लाभ की स्थिति बन सकती है। प्रेमोशन या बड़ा प्रोजेक्ट या बड़ी आय का योग बन सकता है। सूर्य को जल दें। तो स्थितियाँ अधिक अनुकूल होगीं।

कन्या (Virgo): इस सप्ताह इस राशि के जातकों का समय लगभग अनकुल रहेगा। यद्यपि थोड़ा मानसिक तनाव रहेगा। जातक यदि सूझ-बूझ से कार्य करेगा तो बधायें कम आयेगीं। कार्यों के प्रति अनुकूल स्थितियाँ बनी रहेगीं। व्यापार की दृष्टि से सप्ताह मिलाजुला रहेगा। बाजार या शेयर मार्केट में सोच-समझकर पैसा लगाने से लाभ की स्थितियाँ बन सकती है। बिना परखें एवं सोचे-समझें कोई जोखिम न उठायें नहीं तो तनावा का सामना करना पड़ सकता है। घर परिवार की स्थिति सामन्यजस्यपूर्ण रहेगीं। सूर्य को जल दें तो स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं।

तुला (Libra): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय रहेगें। सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगीं। नये मकान या वाहन का सुख जातक को मिल सकता है। प्रेम-प्रसंगों में प्रगाढ़ता आयेगी। जीवनसाथी से अनुराग या प्रेम में बढ़ोतरी होगी। यदि जातक किसी से प्रेम करना चाहे तो अनुकूल समय है अपने प्रेम का प्रस्ताव रख सकता है। नया मकान या नया वाहन खरीदने का भी योग है। वस्त्र या आभूषण क्रय करने की स्थिति बन सकती है। किसी देवी की पूजा करने से स्थितियाँ और अधिक अनुकूल होगीं। और कार्य व्यापार में वृद्धि होगी।

वृश्चिक (Scorpio): इस सप्ताह इस राशि के जातक उतार-चढ़ाव के बीच निरन्तर सक्रिय बने रहेगें। कार्य व्यापार में गतिशीलता बनी रहेगी। कई महत्वपूर्ण कार्यों को पटरी पर लाने में जातक सफल होगा लेकिन विरोधी एवं प्रतिस्पर्धी जातक पर दबाव बनाने में सफल हो सकते है इसलिए थोड़ा सावधानी रखें और सूझ-बूझ से कार्य करें तभी कार्यों में गतिशीलता बनी रहेगी। सूर्य को जल देने से विरोधी भी शांत होगें। कार्यों में आने वाली बाधायें भी कम होगीं।

धनु (Sagittarius): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय बने रहेगें। यद्यपि गुरु नीच का हो गया है। इसलिए यह हर कार्य पटरी पर लाने में थोड़ा कठिनाई बनी रहेगीं। जातक यदि सूझ-बूझ से कार्य करेगा। तो स्थितियाँ निरन्तर गतिशील बनी रहेगीं। जातक किसी बड़े प्रोजेक्ट को ध्यान में रख कर यदि निरन्तर क्रियाशील बना रहेगा। तो स्थितियाँ प्रगतिशील बनी रहेगीं। कार्य व्यापार की दृष्टि से यह सप्ताह मिलाजुला रहेगा। अनुकूल प्रतिकूल स्थितियों के बीच यह सप्ताह चलेगा। इसमें जातक यदि सूझ-बूझ से किसी कार्य के लिए सक्रिय होगा। तो कुछ महत्वपूर्ण कार्य करने में सफल हो सकता है। विष्णु की पूजा एवं गुरु का मन्त्र करने से स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं।

मकर (Capricorn): इस सप्ताह इस राशि के जातकों का समय मिलाजुला रहेगा। यद्यपि नीच का गुरु इस राशि वालों को थोड़ा मानसिक तनाव दे सकता है। कार्यों में व्यवधान एवं तनाव के कारण जातक दबाव महसूस कर सकता है। व्यापार आदि में बहुत जोखिम न उठायें नहीं तो हानि अधिक हो सकती है। जिसके कारण जातक तनाव महसूस कर सकता है। इस सप्ताह इस राशि के जातक निरन्तर सक्रिय बने रहें इससे स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं। और परेशानियों में कमी आयेगीं। शनिवार को पीपल के वृक्ष के नीचे तेल का दीपक जलाने से परिस्थितियों में गुणात्मक सुधार हो सकता है।

कुंभ (Aquarius): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय बने रहेगें। कार्य व्यापार में गतिशीलता बनी रहेगी। यद्यपि खर्च की अधिकता रहेगीं लेकिन अनुकूल कार्यों में खर्च होने के कारण जातक राहत महसूस करेगा। और कार्य व्यापार में क्रियाशीलता बनी रहेगी। पढ़ाई-लिखाई से जुड़े छात्रों के लिए यह सप्ताह अनुकूल है। पढ़ाई में खूब मन लगेगा या जातक कोई प्रतियोगी परीक्षा में सफल हो सकता है। शनि का दर्शन एवं दान करने से स्थितियों में विशेष सुधार होगा। और बड़े लाभ की स्थिति बन सकती है।

मीन (Pisces): इस सप्ताह इस राशि के जातक सक्रिय बने रहेगें। कार्यों में उत्साह बना रहेगा। मंगल के प्रभाव के कारण जातक अपने साहस और परिश्रम से कठिन से कठिन कार्यों को पटरी पर लाने में सफल हो सकता है। गुरु की कमजोर स्थिति के कारण जातक के कार्यों में थोड़ी शिथिलता आ सकती है लेकिन मंगल की मजबूत स्थिति के कारण जातक के कार्य उन्नतिशील बने रहेगें। जिससे जातक के उत्साह में वृद्धि बनी रहेगीं। और जातक अपने बड़े लक्ष्य की ओर बढ़ने में सफल हो सकता है। हनुमान चालीसा का पाठ एवं सुन्दरकाण्ड का पाठ करने से हर कार्यों में स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं और जातक बड़े लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल हो सकता है।

द्वारा : Astrologer and Vaastuvid Dr. Trilokinath

Posted By: Chandramohan Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.