इबादत की राह में हैं कई रोड़े

2014-07-16T07:01:17Z

- आज से हो रही है माह-ए-रमजान की शुरुआत

- बारा क्षेत्र की प्रमुख बाजारों व मस्जिदों के आसपास गंदगी का अंबार

- सोरांव में बिजली पानी व गंदगी से परेशान होंगे अकीदतमंद

अल्लाह की इबादत का पाक महीना रमजान आज से शुरू हो रहा है। लेकिन प्रशासन ने अल्लाह के बंदों की सहूलियत को लेकर कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखाई है। यही वजह है कि बिजली पानी व गंदगी जैसी कई समस्याएं अकीदत की राह का रोड़ा बनेंगी।

मस्जिदों के आसपास गंदगी का अंबार

बारा क्षेत्र की प्रमुख बाजारों, कस्बों एवं मस्जिदों के आस-पास गन्दगी का अंबार लगा हुआ है। स्थानीय प्रशासन की अनदेखी एवं ब्लाक के अधिकारियों की लापरवाही से क्षेत्र के बुदांवा, सेहुंड़ा, बारा, अमिलिया, प्रतापपुर, अमरेहा सहित दर्जनों मुस्लिम बाहुल्य गांवों में गंदगी का अंबार लगा है। वहीं क्षेत्र के जसरा, गौहनिया, घूरपुर, करमा, कौंधियारा आदि प्रमुख बाजारों में भी यही आलम है। इसकी वजह से मार्केट पर भी काफी असर पड़ रहा है। बाजारों में बिक रहे खजूर, सेंवई सहित अन्य खाद्य सामग्रियों पर भी प्रदूषण का असर दिख रहा है।

रमजान की तैयारियों में बिजली का खलल

सोरांव क्षेत्र में रमजान की तैयारियां जोरों पर हैं। त्यौहार को मनाने वाले हर घर में उत्सव सा माहौल बना हुआ है। लेकिन बिजली की समस्या सारी तैयारियों पर पानी फेरती नजर आ रही है। सैटरडे नाइट जहां आपूर्ति पूरी तरह से कटौती की भेंट चढ़ गई, वहीं संडे को दिन में भी बदतर हालात बने रहे। थोड़ी-थोड़ी देर पर गुल होती बिजली घंटे भर के लिए गायब हो जाती। दिन में क्0 बजे से आपूर्ति शुरू तो हुई, लेकिन पूरी तरह कटौती की भेंट चढ़ गई। दूसरी ओर बरसात के बाद भी डिम लाइट की समस्या बनी हुई है। अचानक हाई वोल्टेज से जहां कई जगह इलेक्ट्रानिक उपकरण जल गये, वहीं अब डिम लाइट से बल्व व पंखे का चलना भी मुश्किल हो गया है।

रमजान में क्म् घंटे मिलनी है बिजली

क्षेत्र में इस बार अकीदतमंदों पर शासन और विभाग मेहरबान हो सकता है। ताजा फरमान के अनुसार सोरांव क्षेत्र में क्म् घंटे की आपूर्ति रमजान के दौरान की जाएगी। ऐसे में सबसे बड़ी समस्या आपूर्ति को बनाये रखने व वोल्टेज को ठीक रखने की होगी। अगर लोगों को व्यवस्थित ढंग से इतनी भी बिजली मिली तो लोग त्यौहार के बीच व गर्मी से राहत जरूर पा सकेंगे। हालांकि यह देखने वाली बात होगी कि रमजान शुरू होने के बाद विद्युत विभाग विद्युत आपूर्ति के लिए कैसी व्यवस्था लागू करता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.