डेथ मिस्ट्री! 45 दिन पहले दुल्हन बनी डिप्टी कमांडेंट की 9वीं मंजिल से गिरकर मौत

2019-07-15T09:35:52Z

समुद्री सीमा की रक्षा करने वाली और देश की पहली महिला कोस्ट गार्ड टीम की मेंबर डिप्टी कमांडेंट की रविवार को पीजीआई के सुशांत गोल्फ सिटी में बने सेलेब्रेटी गार्डन अपार्टमेंट के टॉप फ्लोर से गिरकर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।

लखनऊ डिप्टी कमांडेंट की 9वीं मंजिल से गिरकर मौत,
हत्या, आत्महत्या और हादसा के बीच उलझी मौत की गुत्थी

सीसीटीवी के अनुसार टाइम लाइन, 50 सेकेंड का समय गुजारा लिफ्ट में
30 मई को हुई थी स्पाइस जेट एयरलाइंस के पायलट से शादी
शरीर के कपड़े फटे होने से मौत की गुत्थी उलझी
8:45:05 - स्नेहा सेकंड फ्लोर से निकली
8:45:17 - लिफ्ट में इंट्री की
8वीं फ्लोर की लिफ्ट
8:46:07 - 8वीं फ्लोर की लिफ्ट से निकली
8:46:10 - 9वीं मंजिल की सीढ़ियों पर पहुंची
8:51:58 - बिल्डिंग का सुपरवाइजर नीचे उतरते कैमरे में कैद हुआ
10:41 - गार्ड ने पुलिस को सूचना दी
lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : डिप्टी कमांडेंट के शरीर पर मौजूद कपड़े कई जगह से फटे होने से मौत की गुत्थी उलझ गई है। पुलिस हत्या, आत्महत्या और हादसे पर जांच कर रही है। इसके साथ अपार्टमेंट के सीसीटीवी की फुटेज खंगाल रही है। सूचना पर पहुंचे पायलट पति ने पुलिस को अपार्टमेंट की छत से गिर कर मौत की तहरीर दी है। उनकी 30 मई को शादी हुई थी और डिप्टी कमांडेंट 6 जुलाई को जेठ जेठानी के साथ रहने लखनऊ आई थीं।

45 दिन पहले हुई थी शादी

प्रतापगढ़ अनतपुर पट्टी निवासी अरविंद सिंह स्पाइस जेट एयरलाइंस में पायलट हैं। अरविंद के भाई अजय का पीजीआई के सेलेब्रेटी गार्डन अपार्टमेंट के सेकंड फ्लोर स्थित फ्लैट (फ्लैट नंबर 201) है, जहां वह अपनी पत्नी रिशू और दो बच्चों के साथ रहते हैं। अरविंद भी उनके साथ रहते हैं। अरविंद की शादी 30 मई, 2019 को उत्तराखंड के पिथौरागढ़ निवासी स्नेहा कात्यार्थ से हुई थी। स्नेहा कोस्ट गार्ड डिप्टी कमांडेंट पद पर कार्यरत थीं। उन्होंने 3 जुलाई को ही नौकरी से वीआरएस लिया था और जेठ अजय के घर 7 जुलाई को आ गई थी।
दो घंटे बाद दी गई पुलिस को सूचना
रविवार सुबह  8.30 से 9 बजे के बीच स्नेहा का शव अपार्टमेंट के ग्राउंड फ्लोर पर खून से लथपथ पड़ा देखा गया। अपार्टमेंट के गार्ड सुशील ने पुलिस 10:25 बजे हादसे की सूचना दी। सूचना पर 11 बजे डायल 100 की गाड़ी पहुंची। इसके बाद पीजीआई पुलिस के साथ एसपी नार्थ, सीओ कैंट, इंस्पेक्टर आशियाना, इंस्पेक्टर कैंट पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गए। थोड़ी ही देर बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी भी पहुंच गए। एसएसपी के अनुसार स्नेहा के सिर पर बुरी तरह चोट लगी थी। अपार्टमेंट के सामने एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में काम कर रहे बिजली मिस्त्री ने स्नेहा का शव सबसे पहले देखा और लोगों को बताया। इसके बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई।
कई जगह से फटे थे कपड़े
शुरुआती छानबीन में स्नेहा के शरीर पर मौजूद कपड़े कई जगह से फटे मिले। ऐसा लग रहा था कि किसी ने स्नेहा से हाथापाई की थी और इस दौरान उसके कपड़े फट गए। स्नेहा के फटे कपड़े देख कर कई तरह के सवाल उठे रहे हैं, जिनका जवाब किसी के पास नहीं है। पुलिस भी इन सभी सवालों का जवाब तलाशने में जुटी है।

सफाई कर्मी ने की शव की पहचान

अपार्टमेंट में काम करने वाले सफाई कर्मी राजेंद्र अजय के फ्लैट से कूड़ा लेता है। घटना के काफी देर बाद जब वह मौके पर पहुंचा तो उसने शव की पहचान स्नेहा के रूप में की। इससे पहले अपार्टमेंट के गार्ड और अन्य कर्मचारी शव को पहचान नहीं पा रहे थे। इसके बाद अजय के परिवार को इसकी जानकारी दी गई।
पुलिस के आने पर परिवार ने खोला दरवाजा
घटना को लेकर सबसे हैरानी वाली बात यह रही कि स्नेहा के शव के मिलने के बावजूद उसके फ्लैट में मौजूद जेठानी सुप्रिया उर्फ रिशू नीचे तक नहीं उतरीं। दो घंटे बाद जब पीजीआई पुलिस उनके फ्लैट पर पहुंची तब जाकर सुप्रिया ने दरवाजा खोला और पुलिस से बातचीत की। हालांकि हादसे की जानकारी होने पर रिशू ने प्रतापगढ़ में मौजूद अपने पति को फोन पर हादसे की जानकारी दी थी।

गार्ड को नहीं लग सकी भनक

अपार्टमेंट के ई ब्लॉक में गार्ड कमल की ड्यूटी रात आठ बजे से लेकर सुबह आठ बजे तक की थी, जिस जगह स्नेहा का शव गिरा पाया गया। वहां से 40 मीटर दूरी पर गार्ड कमल मौजूद था। बावजूद इसके गार्ड का कहना है कि उसको स्नेहा के गिरने का पता नहीं चल सका। पुलिस ने जब अपार्टमेंट में लगे सीसीटीवी को चेक किया तो स्नेहा वॉक करते दिखी। इसके बाद लिफ्ट में लगे कैमरे की मदद से पता चला कि स्नेहा 8:50 पर लिफ्ट से 8 वें तल पर पहुंची और वहां से 9वें फ्लोर पर सीढिय़ों के रास्ते गई। वहीं पांच ही मिनट के बाद बिल्डिंग का सुपरवाइजर रामनरेश भी लिफ्ट से नीचे आते दिखा। पुलिस सुपरवाइजर रामनरेश से पूछताछ कर रही है। पुलिस का कहना है कि अपार्टमेंट के सभी फ्लोर पर सीसीटीवी लगे हैं। पुलिस की टीम इन कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। स्नेहा को किसी ने गिरते या कूदते हुए नहीं देखा।

साथ बैठकर पी थी चाय

स्नेहा के साथ उनकी जेठानी प्रतापगढ़ निवासी सुप्रिया अपने दो बच्चों के साथ रहती हैं। पुलिस ने जब सुप्रिया से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि स्नेहा सुबह 8:20 बजे वॉक करके लौटी थी और उनके साथ चाय पी थी। इसके बाद स्नेहा कहां चली गई, उनको कुछ नहीं पता। पुलिस सुप्रिया की बातों पर पूरी तरह विश्वास नहीं कर पा रही है।

मायके वालों के आने के बाद तस्वीर होगी साफ

इंस्पेक्टर पीजीआई ने बताया कि स्नेहा के मायके वालों को हादसे की खबर दे दी गई है और वह लोग आ रहे हैं। उनके आने के बाद ही मामले की तस्वीर साफ हो सकेगी। साथ आगे की कार्रवाई की जाएगी।

16 जुलाई को जाना था गोवा

पुलिस को छानबीन में पता चला कि स्नेहा जयपुर मेडीटेशन का एक कोर्स करने के लिए जाने वाली थी, लेकिन पति के इंकार करने पर वह वह नहीं गयी। इसके बाद 16 जुलाई को वह मार्शल आर्ट के एक कोर्स के लिए गोवा जाने तैयारी कर रही थी।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.