50 साल की महिला को डायन बता मार डाला

2019-06-14T10:56:23Z

हत्यारे ने डोभा में नहा रही महिला को पहले तो बांस के डंडे से मारा फिर डोभा में घुसकर पानी में डुबोकर मार डाला मरने के बाद शव को उसी डोभा में पानी के अंदर मिट्टी में दबा दिया

jamshedpur@inext.co.in
CHAIBASA :
पश्चिमी सिंहभूम जिले में डायन के संदेह से एक वृद्ध महिला को डोभा में डुबो कर मार डालने की घटना सामने आई है, जिसमें हत्यारे ने डोभा में नहा रही महिला को पहले तो बांस के डंडे से मारा फिर डोभा में घुसकर पानी में डुबोकर मार डाला. मरने के बाद शव को उसी डोभा में पानी के अंदर मिट्टी में दबा दिया. घटना मझगांव थाना क्षेत्र के अंगरपादा पंचायत के पोखरिया गांव की है. भुवनेश्वर बांकिरा की 50 वर्षीया पत्नी सुखमती बांकिरा की हत्या के आरोपी पड़ोसी सिदिऊ हेम्ब्रम को पुलिस ने दबोच लिया है. सख्ती से पूछताछ में सिदिऊ ने अपना जुल्म कबूल लिया है. साथ ही बताया कि सुखमनी बांकिरा डायन जानती थी, इसीलिए मार दिया. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया.

क्या है मामला

जानकारी के अनुसार, भुवनेश्वर बांकिरा के परिवार में कोई बच्चा नहीं था. पड़ोसी सिदिऊ हेम्ब्रम के घर में भी कोई बच्चा नहीं था. शादी के 15 वर्ष बाद भी बच्चा नहीं होने से सिदिऊ हेम्ब्रम अंधविश्वास के कारण बच्चा की मांग को लेकर कई जगह पूजा-पाठ करवाया. किसी पुजारी ने उससे कहा था कि घर के बगल में कोई बीना बच्चे वाली औरत है वही डायन है. इस बात को लेकर 2017 से ही सिदिऊ भुवनेश्वर बांकिरा की 50 वर्षीया पत्नी सुखमती बांकिरा पर डायन समझकर नजर गड़ाए हुए था. सिदिऊ ने बताया की उसकी पत्नी हमेशा बीमार रहती है. पुजारी को सिंदूर दिखाने पर सुखमती का ही नाम लेता है. इसलिए उसे जान से मार दिया. प्रयास बहुत दिन करते आ रहा थे पर मौका नहीं मिलने के कारण नहीं मार पाया.

डोभा में अकेले नहाने गई थी सुखमती

बुधवार की शाम सुखमती अकेले ही डोभा में ही बर्तन धोने व नहाने गई थी. इसी दौरान अकेले का फायदा उठाकर सुखमती पर पहले बांस के बल्ली से सिर में मारा, जिससे वह तालाब में ही गिर पड़ी. उसके बाद पानी में डुबो कर मार दिया. हत्या की बात सामने नहीं आ जाए, इसलिए शव को डोभा में ही मिट्टी में दबा दिया था. घटों बाद भी सुखमती के घर नहीं आने से घर के लोग परेशान होने लगे थे.

डोभा में की थी बकझक

किसी ने डोभा में सिदिऊ और सुखमती को बकझक करते हुए सुना था. वह सुखमती के परिवार में बताया दिया. उसी वक्त तेज आंधी-तूफान आया जिस कारण सुखमती को खोजने नहीं जा पाए. घटना की सूचना पति भुवनेश्वर बांकीरा को दी गई. उसके आने के बाद करीब रात 10 बजे ग्रामीण मुण्डा मोरन सिंह हेम्ब्रम के पास जाकर घटना की सूचना दी. गुरुवार की सुबह मुंडा ने मझगांव थाना में जानकारी दी. पुलिस प्रशासन गांव पहुंच कर सिदिऊ हेम्ब्रम को पकड़ कर पूछताछ करने लगा. पहले तो वह नहीं जानते हैं कह कर बात को टालने की कोशिश करने लगा, लेकिन जब पुलिस थोड़ा सख्त हुई तो सिदिऊ ने अपना गुनाह कबूल कर लिया और बताया कि सुखमती बांकिरा डायन जानती थी, इसलिए उसे मार दिया. उसका शव मेरे ही डोभा में पानी के नीचे दबा दिया. पुलिस मुंडा व ग्रामीण घटनास्थल पर जाकर शव को खोजते हुए डोभा से बरामद किये. इसके बाद

Posted By: Kishor Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.