बलिया/लखनऊ (पीटीआई)। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र सिंह को प्रदेश की राजधानी लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है। दो अन्य को बलिया जिले के वैशाली इलाके से धरा गया है। तीन गिरफ्तारियों के साथ पुलिस अब तक इस मामले में आठ लोगों को पकड़ चुकी है। इनमें से पांच के खिलाफ नामजद एफआईआर है जबकि तीन अन्य आरोपी भी शामिल हैं। इस मामले में 8 नामजद आरोपी हैं जबकि 20-25 अन्य आरोपी हैं।
गैंगस्टर एक्ट के तहत आरोपियों की संपत्ति जब्त
उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के आईजी अमिताभ यश ने कहा, 'बलिया में 46 वर्षीय व्यक्ति की गोली मार कर हत्या करने वाले मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र सिंह को लखनऊ से रविवार सुबह पाॅलिटेक्निक इलाके से गिरफ्तार किया गया है।' आजमगढ़ रेंज के डीआईजी सुभाष चंद्र दुबे ने कहा, 'इस मामले में नामजद अभियुक्त संतोष यादव और अमरजीत यादव को बलिया सिटी के वैशाली इलाके से गिरफ्तार किया गया है। इन पर 50,000 रुपये का ईनाम था। गैंगस्टर एक्ट के तहत इनकी संपत्ति को जब्त कर लिया गया है।'


अभियुक्तों पर एनएसए और गैंगस्टर एक्ट लगाया
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने बताया कि मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र प्रताप सिंह के साथ गिरफ्तार अभियुक्तों में नरेंद्र प्रताप सिंह और देवेंद्र प्रताप सिंह शामिल हैं। अन्य आभियुक्तों में मुन्ना यादव, राज प्रताप यादव और राजन तिवारी शामिल हैं। उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को कहा था 46 साल के व्यक्ति को गोली मारने वालों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) और गैंगस्टर एक्ट भी लगाया गया है। यदि अथाॅरिटी को लगता है कि इनसे राष्ट्रीय सुरक्षा या कानून को खतरा है तो एनएसए के तहत इन्हें ना चार्ज के 12 महीनों तक जेल में रखा जा सकता है।

Crime News inextlive from Crime News Desk

LIVE : PNB MetLife Webinar

blinkLIVE