नई दिल्ली (पीटीआई)। बीसीसीआई को महिला आईपीएल शुरू करने के लिए अब ज्यादा इंतजार नहीं करना चाहिए। भारत की महिला एकदिवसीय कप्तान मिताली राज ने बोर्ड से आग्रह किया कि इसे धीरे-धीरे विकसित करने से पहले इसे अगले साल छोटे पैमाने पर शुरु कर देना चाहिए। क्रिकइन्फो से बातचीत में मिताली ने कहा, 'मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि उन्हें अगले साल तक एक महिला आईपीएल शुरू कर देना चाहिए, भले ही यह थोड़े छोटे पैमाने पर हो और नियमों में कुछ बदलाव के साथ, जैसे, कहते हैं, चार के बजाय पहले संस्करण में पांच से छह विदेशी खिलाड़ी हो तो बेहतर है।'

इस बार पुुरुष आईपीएल के साथ होनी थी शुरुआत

इस महीने की शुरुआत में भारतीय महिला टीम के टी 20 विश्व कप के फाइनल में हारने के बाद, पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने अगले साल से महिलाओं के आईपीएल के लिए प्रतिभा का पता लगाने का आह्वान किया था। वैसे 2019 में महिलाओं का मिनी आईपीएल आयोजित हुआ था, जिसमें आईपीएल वेलोसिटी, आईपीएल ट्रेलब्लेजर और आईपीएल सुपरनोवास नाम की तीन टीमों ने हिस्सा लिया था। इस साल, बीसीसीआई ने पुरुषों के आईपीएल प्लेऑफ के दौरान चार महिला टी 20 टीमों के बीच एक प्रतियोगिता शुरु करने का विचार किया था मगर अब पुरुषों का आईपीएल ही कोरोना के चलते टल गया है।

पहले फ्रेंचाइजी बनाना होगा

भारत के पास पूरे आईपीएल के लिए पर्याप्त महिला क्रिकेटर्स नहीं हैं, लेकिन राज ने कहा कि यह अभी भी आयोजित किया जा सकता है यदि मौजूदा आईपीएल फ्रेंचाइजी प्रक्रिया शुरू करने के लिए खुद की टीमें बनाते हैं। उन्होंने कहा, 'मैं मानती हूं कि हमारे पास घरेलू पूल में अभी तक गहराई नहीं है, लेकिन इस समय मौजूदा टीमों को बनाने के लिए फ्रेंचाइजी प्राप्त करना है। आप हमेशा के लिए इंतजार नहीं कर सकते। आपको कहीं से तो शुरू करना होगा, और धीरे-धीरे, साल-दर-साल, आप लीग को विकसित कर सकते हैं और फिर इसे चार विदेशी खिलाडिय़ों तक पहुंचा सकते हैं।' राज ने यह भी कहा कि टी 20 विश्व कप में बल्ले से प्रभावित करने वाली किशोर सनसनी शैफाली वर्मा को भी वनडे में शामिल किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, "एकदिवसीय मैचों के लिए उनका विचार करना बुरा नहीं है। वह युवा हैं।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk