- प्रमुख सचिव ने कमिश्नर को फोन कर मामला निपटाने को कहा

- नगर आयुक्त और मेयर ने मिलाए हाथ, साथ में बैठकर पी चाय

- विकास कार्यो को रफ्तार देने में दोनों के बीच बनी सहमति

---------------

रुके कामों को मिलेगी गति

- शहर में अतिक्रमण अभियान चल रहा है, इसे विस्तार दिया जाएगा

- सीवरेज प्लांट का निर्माण शुरू कराया जाएगा

- डीडीपुरम में आदर्श सड़क बनने का काम पूरा होगा

- बड़े नालों की कराई जाएगी सफाई

बरेली : नगर निगम के अखाड़ा बन जाने से शहर का विकास पटरी से उतर गया था. आए दिन हो रहे विवाद और शहर के रुके विकास कार्यो पर आखिरकार सीएम को संज्ञान लेना पड़ा. जिम्मेदार बेफिक्र होकर उलझने में लगे थे तो सीएम ने फटकार लगाई. कमिश्नर ने मेयर और नगर आयुक्त को बुलाकर सीएम की नाराजगी के बारे में बताया. तब दोनों सुलह करने के लिए राजी हुए.

यूं ही नहीं निपटा मामला

मेयर और नगर आयुक्त के बीच बात काफी बिगड़ गई थी. सीएम को पहले ही दोनों की तनातनी का जानकारी थी. इस बार जैसे ही फिर से विवाद बढ़ा तो सीएम ने फौरन हस्तक्षेप किया. उन्होंने नाराजगी जताते हुए मामला निपटाने के निर्देश दिए तो कमिश्नर हरकत में आए. उन्होंने दोनों के साथ बैठकर सीएम की मंशा से अवगत करा दिया. इस पर वेडनसडे को मेयर व नगर आयुक्त ने हाथ मिलाया. निगम के पार्क में पौधरोपण भी किया.

इसलिए हुआ था विवाद

गाय छोड़ने की सिफारिश न मानने पर मंडे को मेयर उमेश गौतम को गुस्सा आ गया और वह नगर आयुक्त के कमरे में मौजूद प्रभारी नगर स्वास्थ्य अधिकारी संजीव प्रधान के पास पहुंच गए थे. संजीव का हाथ खींचकर बाहर ले आए, नगर आयुक्त सैमुअल पॉल एन ने हस्तक्षेप की कोशिश की तो महापौर ने उन्हें भी खरी खोटी सुना दी. प्रकरण का वीडियो वायरल हुआ जोकि किसी ने सीएम के पास पहुंचा दिया. कमिश्नर ट्यजडे को देर रात ही मेयर व नगर आयुक्त को बुला लिया. सीएम की नाराजगी के बारे में बताया. वेडनसडे को दोनों नगर निगम पार्क पर पहुंचे और हाथ मिलाया. फिर एक साथ पौधरोपण किया. इसके बाद कार्यालय में साथ बैठक चाय पी.

-----

वर्जन

शासन की ओर से आदेश आया था जिसके बाद हमने दोनों को आपस में बैठाकर बीच का रास्ता निकाला. दोनों के बीच गलतफहमियां थी. दोनों शहर के विकास के लिए प्रयासरत हैं और तेजी से काम करने के लिए सहमत हो गए हैं. दोनों गिले-शिकवे भुलाकर शहर के विकास के लिए काम करने को तैयार हो गए हैं.

-रणवीर प्रसाद, कमिश्नर

आपस में कोई टकराव नहीं है. पुरानी बात भूल चुके हैं, नई शुरुआत कर रहे हैं. शहर में विकास कार्यो को गति मिलेगी.

-डॉ. उमेश गौतम, महापौर

------

जो हुआ, अब उस पर कुछ नहीं बोलना. एक बार फिर से शुरुआत से साथ मिलकर विकास कार्यो को तेजी से पूरा करेंगे.

-सैमुअल पॉल एन, नगर आयुक्त