-माइक लगाकर अफवाह से बचने व कानून को हाथ में न लेने की पुलिस द्वारा की गई अपील

PRAYAGRAJ: बच्चा चोरी के नाम पर हो रही मारपीट की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं. इस पर ब्रेक लगाने के लिए पुलिस ने मुहिम शुरू कर दी है. एसएसपी के निर्देश पर थानों की पुलिस क्षेत्र में जागरुकता अभियान चला रही है. शुक्रवार को सुबह व दोपहर माइक लगाकर पुलिस ने लोगों को अफवाह से बचने की अपील की. इस तरह की सूचना मिलने पर तत्काल पुलिस को खबर देने के लिए कहा गया. यह भी समझाने की कोशिश की गई कि लोग खुद कानून को अपने हाथ में न लें. सूचना थाने पर दें, पुलिस मामले में आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

हो चुकी हैं कई घटनाएं

शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक बच्चा चोरी के नाम पर पुरुषों व महिलाओं की पिटाई का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. सितंबर माह में अबतक इस तरह की करीब आधा दर्जन घटनाएं हो चुकी हैं. घूरपुर में एक महिला पर बच्चा चोरी का आरोप लगाकर पीटा गया. इसी तरह नैनी में भी महिला की पिटाई की गई. सोरांव, धूमनगंज, करेली एरिया में भी बच्चा चोरी के आरोप में पब्लिक ने कहीं महिला तो कहीं पर पुरुष की पिटाई की. हालात को देखते हुए एसएसपी ने थानाध्यक्षों को जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए. आदेश का पालन करते हुए शुक्रवार को करेली, सोरांव, शंकरगढ़ सहित तमाम थानों की पुलिस गाड़ी में माइक लगाकर लोगों को जागरूक किया. एनाउंस किया गया कि बच्चा चोरी के आरोप में आप स्वयं किसी की पिटाई न करें. इस बात की सूचना पुलिस को दें, दोषी के खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी. यदि बच्चा चुराते हुए किसी को पकड़ लिए हैं तो उसे पुलिस के हवाले कर दें. पुलिस खुद उसके विरुद्ध कार्रवाई करेगी.

जनपद में क्या पूरे प्रदेश में जितनी भी घटनाएं इस तरह की सामने आई हैं, उसमें एक भी मामले में बच्चा चोरी नहीं हुआ है. बावजूद इसके लोग बच्चा चोरी का आरोप लगाकर महिलाओं व पुरुषों की पिटाई कर रहे हैं. ऐसा करना गलत है. लोग सूचना अपने सम्बंधित थाने को दें. पुलिस तत्काल एक्शन लेगी. पुलिस के कार्रवाई न करने पर मेरे द्वारा एक्शन लिया जाय जाएगा.

-सिद्धार्थ अनिरुद्ध पंकज, एसएसपी प्रयागराज