-सीएम योगी आदित्यनाथ ने लिया बाढ़ पीडि़तों का हालचाल

-जिले का किया हवाई सर्वेक्षण, दो राहत केंद्रों पर बांटी राहत सामग्री

PRAYAGRAJ: बाढ़ से जूझ रहे जिलों के लिए राहत भरी खबर है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ में जान या माल की हानि होने पर 24 घंटे के भीतर राहत और मुआवजा दिए जाने का आश्वासन दिया है. उन्होंने कहा कि जिन जिलों में बाढ़ का प्रकोप है वहां पीडि़तों को बेहतर सुविधाएं दिए जाने के साथ राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है. वह शुक्रवार को प्रयागराज में बाढ़ पीडि़तों का हाल-चाल लेने आए थे. इसके पहले उन्होंने जिले के बाढ़ ग्रस्त एरिया का हवाई सर्वेक्षण भी किया. इसके बाद दो राहत केंद्रों पर उन्होंने राहत सामग्री का वितरण भी किया.

अंत में बाढ़ ने दिया झटका

कैंट हाईस्कूल बाढ़ राहत शिविर में उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रशासन पूरी तरह अलर्ट पर है. जिन एरियाज में बाढ़ है वहां के लोगों को शिविरों में रहने की जगह और पूरी सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं. उन्होंने कहा कि मॉनसून सीजन में यूपी में बाढ़ नही आई. हमने ऐसे इंतजाम किए थे कि बारिश का पानी आसानी से निकल गया. अंत समय में राजस्थान से चंबल और एमपी से केन-बेतवा नदी से छोड़े गए पानी की वजह से औरैया, इटावा, प्रयागराज, बलिया, वाराणसी, गाजीपुर आदि शहरों को बाढ़ का सामना करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि इन जिलों के अधिकारियों को 24 घंटे के भीतर राहत और मुआवजा उपलब्ध कराने के कड़े निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि अगले 24 घ्ाटे में बाढ़ का पानी उतरने की संभावना है.

मंच से बांटी राहत सामग्री

प्रयागराज दौरे की शुरुआत उन्होंने हवाई सर्वेक्षण से की. उन्होंने गंगा और यमुना के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का जायजा लिया. इसके बाद वह कैंट हाईस्कूल न्यू कैंट में पहुंचे और यहां बाढ़ पीडि़तों से मुलाकात की. मंच से उन्होंने 25 लोगों को बाढ़ राहत सामग्री का वितरण भी किया. इसके बाद वह ममफोर्डगंज स्थित सेंट जोसफ ग‌र्ल्स कॉलेज राहत शिविर में पहुंचे. यहां जिला प्रशासन द्वारा आयोजित आंगनबाड़ी शिविर में महिलाओं की गोदभराई और बच्चों के जन्मदिन कार्यक्रम में हिस्सा लिया. उनके आगमन पर राहत शिविरों को आकर्षक तरीके से सजाया गया था और अन्य विभागों की ओर से विभिन्न स्टॉल भी लगाए गए थे. यहां पर भी राहत सामग्री का वितरण किया गया. मौके पर सांसद रीता बहुगुणा जोशी, केशरी देवी पटेल, विधायक हर्ष बाजपेई, कमिश्नर डाू. आशीष गोयल, डीएम भानुचंद्र गोस्वामी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे.

------------

राहत सामग्री का विवरण (प्रति परिवार)

भुना चना: 2 किग्रा

अरहर दाल: 2 किग्रा

नमक: 500 ग्राम

हल्दी: 250 ग्राम

मिर्च: 250 ग्राम

धनिया: 250 ग्राम

बिस्किट: 250 ग्राम

रिफाइंड तेल: 1 लीटर

मोमबत्ती:1 पैकेट

माचिस: 1 पैकेट

आटा: 10 किग्रा

चावल: 10 किग्रा

आलू: 10 किग्रा

लाई: 5 किग्रा