- रामगढ़ताल स्थित नौका विहार पर बिना लाइफ जैकेट कराई जा रही बोटिंग

- लाइफ गा‌र्ड्स भी नहीं रहते मौजूद, नोटिस में लिखी बातों का नहीं होता पालन

GORAKHPUR: करोड़ों रुपए खर्च कर रामगढ़ताल को टूरिस्ट स्पॉट के रूप में डेवलप किया जा रहा है। मौज-मस्ती के लिए ये कम ही दिनों में गोरखपुराइट्स के साथ ही बाहर से आने वाले लोगों की फेवरेट जगह बन चुका है। लेकिन टूरिस्ट्स की बढ़ती भीड़ के बावजूद सुरक्षा के लिहाज से अभी भी यहां केवल फॉर्मेल्टी की जा रही है जो कभी भी जानलेवा बन सकती है। नौका विहार पर बिना लाइफ जैकेट के बोटिंग कराई जा रही है। जबकि बोटिंग टिकट के लिए बने काउंटर पर लगे नोटिस बोर्ड पर साफ-साफ लिखा है कि बिना लाइफ जैकेट के बोटिंग नहीं करानी है। नियम तोड़ बोटिंग करने वाले पर 500 रुपए तक का जुर्माना है। साथ ही बोट वाले पर कार्रवाई भी तय की गई है। बावजूद इसके यहां खुलेआम लोगों की जान खतरे में डाली जा रही है।

कोई पहनना नहीं चाहता तो क्यों बोलें

दैनिक जागरण आई नेक्स्ट टीम गुरुवार को नौका विहार पहुंची। यहां तीन तरह की बोट थीं, जिनपर बिना लाइफ जैकेट के बड़े आराम से ताल की सैर कराई जा रही थी। पूछे जाने पर कि आप लोग बिना लाइफ जैकेट क्यों सैर करा रहे हैं, बोट वाले ने हंसते हुए कहा कि कोई लाइफ जैकेट पहनना नहीं चाहता है। इसी तरह आधा दर्जन से अधिक बोट्स 5-10 लोगों को बैठाकर बिना लाइफ जैकेट के ही पानी में स्पीड में फर्राटा भर रहे थे।

लाइफ गा‌र्ड्स का भी पता नहीं

बिना लाइफ जैकेट के बोटिंग कराने के अलावा जिम्मेदारों ने यहां लाइफ गा‌र्ड्स की भी कोई व्यवस्था नहीं की है। ऐसे में अगर ताल के अंदर कहीं कोई अनहोनी हो जाए तो लोगों की जान भगवान भरोसे ही है।

तीन तरह की चलतीं बोट

नौका विहार में पैडल बोट जिसमें एक व्यक्ति का 35 रुपए किराया है, इससे 20 मीटर के दायरे में घूमना रहता है। दूसरी मोटर बोट जिसका 60 रुपए किराया है उससे 500 मीटर के दायरे में घूमा जा सकता है। इसी तरह तीसरी मोटर बोट जिसका किराया 200 रुपए है, इससे ताल में दो किमी तक घूमा जा सकता है।

बॉक्स

नशा तो नहीं मौत का कारणा!

नौका विहार पर बुधवार को दोस्तों संग जार्बिग बॉल का आनंद ले रहा अमन अचानक बेहोश हो गया। जिसके बाद उसे डॉक्टर के पास ले जाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। सूत्रों की मानें तो आठ लड़के एक साथ नशे की हालत में यहां पहुंचे थे जो काफी शोर भी मचा रहे थे। रही बात जार्बिग बॉल की तो ये गोवा, दिल्ली जैसे बड़े शहरों में देखने को मिलता है। इसकी वजह से किसी की मौत होना, थोड़ा मुश्किल सवाल है। नौका विहार में दिल्ली से जार्बिग बाल लाई गई है। इसकी कीमत करीब 70 हजार है। इसमें बिजली से हवा भरकर पानी में छोड़ दिया जाता है। इसके अंदर जाने पर ये गोल-गोल घूमती है।

कोट्स

यहां तो लाइफ जैकेट होते हुए भी किसी को भी नहीं पहनाया जा रहा है। ये खतरनाक हो सकता है। किसी को भी मस्ती के साथ सुरक्षा का भी ध्यान देना चाहिए।

अभिषेक

साफ-साफ नोटिस बोर्ड पर लिखा हुआ है इसके बाद भी इसका पालन नहीं किया जा रहा है। बोट वालों को भी किसी की जान के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए।

किशन

कोई नियम बना है तो उसमें कुछ बात होगी तभी बनाया गया है। लोगों को भी अवेयर होना चाहिए और बिना लाइफ जैकेट के पानी में जाना ही नहीं चाहिए।

सुभाष पटेल

वर्जन

बिना लाइफ जैकेट के ताल की सैर करा रहे हैं तो ये बहुत ही गलत है। मैंने इन्हें चेतावनी भी दी थी कि बिना लाइफ जैकेट के किसी को मत बैठाओ। इसके बाद भी ऐसा कर रहे हैं तो कार्रवाई की जाएगी।

- रविन्द्र कुमार मिश्रा, पर्यटन अधिकारी

काफी खोजबीन के बाद भी कोई लापरवाही वाली बात सामने नहीं आई है। जार्बिग बाल संचालक को एग्रीमेंट कराने के लिए एक हफ्ते का समय दिया गया है। तब तक कोई एक्टिविटी नहीं होगी। तय समय में एग्रीमेंट नहीं कराया तो अनुबंध खत्म कर दिया जाएगा।

राम सिंह गौतम, सचिव जीडीए

Posted By: Inextlive