मॉस्को (एपी)उत्तरी प्रशांत क्षेत्र में बुधवार को 7.5 तीव्रता का भूकंप आया और पूर्वानुमानकर्ताओं का मानना था कि इसके चलते नजदीकी तटों पर भयंकर सुनामी आ सकती है लेकिन बाद में यह स्पष्ट किया गया कि इससे सुनामी की अब कोई खतरा नहीं है। वहीं, अमेरिका के हवाई प्रांत में भी सुनामी पर रखी जा रही नजर को अब हटा लिया गया है. अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने बताया कि भूकंप रूस के सुदूर पूर्वी कुरील द्वीप पर सेवरो के दक्षिण-दक्षिण पूर्व में 219 किलोमीटर की दूरी पर आया। प्रशांत सुनामी चेतावनी केंद्र ने शुरू में चेतावनी दी कि कुरीलों के कुछ हिस्सों में सुनामी की खतरनाक लहरें आ सकती हैं, लेकिन बाद में उन्होंने आगे के विश्लेषण के आधार पर कहा कि इस भूकंप के चलते संबंधित क्षेत्रों में सुनामी नहीं आएगी।

कुछ तटीय क्षेत्रों में समुद्र के स्तर में गैर-हानिकारक परिवर्तन

अमेरिकी प्रशांत सुनामी चेतावनी केंद्र ने यह भी कहा कि देश के वेस्ट कोस्ट, अलास्का और कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया ने भूकंप से सुनामी के खतरे का सामना नहीं किया है लेकिन अमेरिकी तटीय क्षेत्रों में से कुछ में समुद्र के स्तर में गैर-हानिकारक परिवर्तन हो सकते हैं. इसके साथ यह भी बताया गया कि भूगोल और अन्य स्थानीय विशेषताओं से लहर की ऊंचाई और संभावित खतरा अलग हो सकते हैं। वहीं, जापान की मौसम विज्ञान एजेंसी ने कहा कि भूकंप एक मजबूत 7.8 तीव्रता का था और इससे जापानी तटों के आसपास समुद्र के स्तर में मामूली बदलाव हो सकता है। जापान में मौसम विभाग के अधिकारियों ने भी सुनामी का कोई अलर्ट जारी नहीं किया है।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk