Wrong answer के right portion पर मिलेंगे marks
पहले किसी क्वेश्चन का आंसर रांग होता था तो उसके पूरे माक्र्स काट दिए जाते थे, चाहे उसका कुछ पोर्शन सही ही क्यों न हो, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब आंसर अगर रांग होगा, लेकिन उसका कुछ पोर्शन सही रहने पर उस क्वेश्चन के माक्र्स के अकॉर्डिंग कुछ-न-कुछ माक्र्स जरूर दिए जाएंगे.

Inter में भी step  marking
इससे पहले जैक द्वारा इंडरमीडिएट में स्टेप मार्किंग सिस्टम के जरिए आंसरशीट का इवैल्यूएशन करने की तैयारी है. इसे देखते हुए कोल्हान यूनिवर्सिटी द्वारा स्टार्ट हुए पार्ट थर्ड एग्जाम से ही स्टेप मार्किंग सिस्टम को फॉलो करने की बात कही जा रही है.  जल्द ही मीटिंग कर इस संबंध में डिसीजन लिया जाएगा.

होगी video recording
कोल्हान यूनिवर्सिटी में पार्ट थ्री का एग्जाम स्टार्ट हो गया है. एग्जाम फ्री व फेयर हो, इसके लिए एग्जाम सेंटर की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई जाएगी. ऐसे में चीटिंग करते पकड़े जाने पर बचने की कोई गुंजाइश नहीं रह जाएगी. सभी स्ट्रीम के डीन को एग्जाम सेंटर विजिट करने को कहा गया है.

30 दिनों के भीतर आ जाएगा result
एग्जाम के बाद आंसरशीट का इवैल्यूएशन भी जल्द कराने की तैयारी की जा रही है, ताकि रिजल्ट में देरी न हो. आंसरशीट के इवैल्यूएशन के लिए जमशेदपुर व चाईबासा में तीन सेंटर्स बनाए जाएंगे. एग्जाम के बाद तत्काल आंसर शीट वहां भेज दिए जाएंगे. इंफॉर्मेशन के मुताबिक 15 दिनों में आंसरशीट की जांच कर ली जाएगी. इसका मकसद रिजल्ट को पेंडिंग न रखकर एग्जाम के 30 दिनों के अंदर रिजल्ट पब्लिश करना है.

'स्टेप मार्किंग को लेकर जल्द ही मीटिंग होगी. इसके बाद इसे इम्प्लीमेंट किया जाएगा. हम चाहते हैैं स्टूडेंट्स जो भी लिखें, उस उन्हें पूरा माक्र्स मिले.'
-डॉ शुक्ला मोहंती, प्रो वीसी, कोल्हान यूनिवर्सिटी

Report by: goutam.ojha@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk