बड़ी संख्या में CNG vehicles

ड्राइवर्स का कहना था कि शहर में बड़ी संख्या में सीएनजी व्हीकल्स हैं. इसके बावजूद दूसरा सीएनजी पंप नहीं खोला जा रहा है. शहर में सीएनजी से चलने वाले ऑटो 3300, टैंपो 1300 और फोर व्हीलर व बसों की संख्या भी अच्छी-खासी है. दरअसल स्वालेनगर में बने सीएनजी पंप को बीडीए से अभी तक एनओसी नहीं मिली है. इसी वजह से पंप नहीं शुरू हो पाया है. ड्राइवर्स ने बीडीए पर तीन लाख रुपए रिश्वत मांगने का आरोप भी लगाया. उनका कहना है कि जब सभी जगह से एनओसी मिल गई तो बीडीए लेटलतीफी क्यों कर रहा है.

...तो अनिश्चितकालीन strike

मौक  पर पहुंची पुलिस भी चालकों का गुस्सा शांत नहीं करवा सकी. हंगामा बढ़ते देख एडीएम सिटी ने बात संभाली. तीन दिन में स्वालेनगर का सीएनजी पंप स्टार्ट किए जाने के एश्योरेंस पर उनका गुस्सा शांत हुआ. बरेली ऑटो रिक्शा चालक कल्याण सोसाइटी के प्रेसिडेंट अकीलउद्दीन ने बताया कि अगर एडमिनिस्ट्रेशन अपनी बातों से मुकर गया तो वे अनिश्चितकालीन स्ट्राइक करेंगे.