इस्लामाबाद (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने शनिवार को फैसला लिया है कि वह सिख तीर्थयात्रियों के लिए सोमवार से करतारपुर कोरिडोर एक बार फिर से खोलेगा। यह निर्णय पाक सरकार ने 19वीं शताब्दी के सिख साम्राज्य के महाराजा रणजीत सिंह की पुण्य तिथि के मौके लिया है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ट्विटर पर यह घोषणा की है। उन्होंने लिखा है कि पूरी दुनिया में धार्मिक स्थल खुल रहे हैं, पाकिस्तान ने सभी सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर साहिब कोरिडोर खोलने की तैयारी की है। 29 जून, 2020 को कोरिडोर दोबारा खोलने की सूचना भारत को दे रहे हैं। कुरैशी ने ट्वीट में लिखा है कि यह फैसला महाराजा रणजीत सिंह की पुण्य तिथि के मौके पर लिया गया है।
16 मार्च से बंद है करतारपुर कोरिडोर
कोविड-19 महामारी को देखते हुए करतारपुर कोरिडोर अस्थाई रूप से 16 मार्च को बंद कर दिया गया था। 4.2 किमी वाला यह कोरिडोर गुरदासपुर जिले के डेरा नानक बाबा शहर को करतारपुर साहिब गुरुद्वारा से जोड़ता है। यह गुरुद्वारा पाकिस्तान के नरोवाल जिले के शकरगढ़ तहसील में पड़ता है। भारत और पाकिस्तान ने अक्टूबर 2019 में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इसमें यह सहमति बनी थी कि करतारपुर कोरिडाेर के जरिए पवित्र गुरुद्वारे में तीर्थयात्रियों को वीजा मुक्त दर्शन की इजाजत होगी। ऐसा माना जाता है कि यह गुरुद्वारा उसी स्थान पर बना है जहां गुरु नानक की 16वीं शताब्दी में मृत्यु हुई थी। यह गुरुद्वारा पाकिस्तान की सरहद में 4 किमी अंदर है।

Posted By: Satyendra Kumar Singh

International News inextlive from World News Desk