छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र : स्टील सिटी सहित कोल्हान मंडल के सबसे बड़े अस्पताल एमजीएम की व्यवस्था खस्ताहाल है. रविवार रात इमरजेंसी में भर्ती एक मरीज की नल के पास गिरकर मौत हो गई. रात भर शव नल के पास पड़ा होने से चूहों ने हाथ पैर कुतर डाले. सुबह जानकारी होने पर परिवार के लोगों ने प्रदर्शन किया. बताते चले कि रविवार को चंद्रशेखर शर्मा 39 को इमरजेंसी विभाग के बेड नंबर 14 पर भर्ती कराया गया था. रात में उनके साथ कोई परिवार का न होने पर वह पानी पीने के लिए नल के पास गया हुआ था. नल के पास अचानक फिसलकर गिरने से मरीज की मौके पर ही मौत हो गई.

ठंड लगने की आशंका

चंद्रशेखर शर्मा शराब के अत्यधिक सेवन करता था. बीते तीन दिन से उसे खून की उल्टी हो रही थी. चिकित्सक चंद्रशेखर की मौत की वजह ठंड लगने की आशंका जता रहे है. जिस जगह पर चंद्रशेखर गिरा हुआ था वहां पर नल का पानी रातभर गिरते रहा और चंद्रशेखर उसमें भींगते रहा. इसी वजह से चंद्रशेखर को ठंड लगने की आशंका जतायी जा रही है.

बढ़ रहा चूहों का आंतक

चंद्रशेखर के दायां हाथ व बाये पैर को चूहों ने कुतर लिया था. इससे पूर्व भी अस्पताल में चूहों ने कई शवों को कुतर चुके हैं. एमजीएम में चूहों के आंतक से सभी परेशान हैं. कई बार तो चूहे अस्पताल के कागजात भी कुतर देते हैं. एक शव के आंख को भी चूहों ने निकाल लिया था. इसके बाद चूहों को मारने के लिए टेंडर भी निकाला गया था. फिलहाल अस्पताल में चूहा मारने की कोई व्यवस्था नहीं है.

डॉक्टर, कर्मचारी व होमगार्ड की लापरवाही

अस्पताल की लापरवाही से चंद्रशेखर की मौत होने की बात सामने आ रही है. इमरजेंसी विभाग में भर्ती एक मरीज ने बताया कि रात के करीब डेढ़ बजे चंद्रशेखर अपने बेड से उठकर गया. इसके कुछ ही देर के बाग गिरने की आवाज आई. इसके बाद ड्यूटी में तैनात एक होमगार्ड के जवान वहां गया भी और इसकी जानकारी डॉक्टरों को दी. इस दौरान डॉक्टरों ने उस मरीज को ड्यूटी रूम में लाने की बात कहीं लेकिन होमगार्ड के जवान टाल दिए. चंद्रशेखर की गिरने की सुचना स्वीपर को भी थी लेकिन हर स्तर से लापरवाही बरती गई और मरीज तड़प कर मर गया.

एमजीएम में चूहों ने कुतरे शव

- 28 सिंतबर 2018

इमरजेंसी विभाग भर्ती लालमोहन पूर्ति की मौत हो गई थी. इसके बाद शव को चूहों ने कुतर दिया था.

- 5 फरवरी 2015

चौका के पोड़का गांव निवासी नागेंद्र हजाम की मौत इमरजेंसी विभाग में हो गई थी. उनके शव को चूहों ने कुतर दिया था.

- 9 जून 2013

भालूबासा निवासी गुड्डू ठाकुर के शव को चूहों ने कुतर दिया था. उसे इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था.