नई दिल्ली (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र और नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अमलेखगंज (नेपाल) और मोतिहारी (भारत) के बीच पेट्रोलियम पाइपलाइन का किया उद्घाटन किया। यह दक्षिण एशिया में पहली बार क्रॉस बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन है।  इस पाइपलाइन को नेपाल के अमलेखगंज से बिहार से मोतिहारी के बीच बिछाया गया है। इस पाइप लाइन से नेपाल में बदलाव देखने को मिलेगा।


क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी हुई

पीएम मोदी ने कहा यह बहुत संतोष का विषय है कि दक्षिण एशिया की यह पहली क्रॉस-बॉर्डर पेट्रोलियम पाइपलाइन रिकॉर्ड समय में पूरी हुई है। जितनी अपेक्षा थी, उससे आधे समय में यह बन कर तैयार हुई है। विकास के लिए हमारी साझेदारी को और सक्रिय बनाने और नए क्षेत्रों में सहयोग को और बढ़ाने के लिए हमने नए अवसरों का लाभ उठाया है। हमारे संयुक्त प्रयासों का उद्देश्य है कि हमारे लोगों को लाभ मिले, उनका विकास हो।


नेपाल को तबाह करने वाले 2015 के भूकंप को भी याद किया
इस अवसर पर पीएम मोदी ने नेपाल को तबाह करने वाले 2015 के भूकंप को भी याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि 2015 के विनाशकारी भूकंप के बाद जब नेपाल ने पुनर्निर्माण का बीड़ा उठाया, तो भारत ने पड़ोसी और निकटतम मित्र के नाते अपना हाथ सहयोग के लिए आगे बढ़ाया।मुझे बहुत खुशी है कि नेपाल के गोरखा और नुवाकोट जिलों में हमारे आपसी सहयोग से फिर से घर बसे हैं। आम लोगों के सिर पर फिर से छत आई है।

 


नेपाल के पीएम ओली बोले भारत-नेपाल सभी क्षेत्रों में साझेदार

वहीं इस अवसर पर नेपाल के प्रधानंत्री केपी शर्मा ओली काठमांडु में मौजूद थे। उन्होंने भी खुशी व्यक्त की है। प्रधानंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि भारत-नेपाल सभी क्षेत्रों में साझेदार है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक परियोजना काफी पुरानी है। इसका प्रस्ताव 1996 में पेश हुआ था। हालांकि 2014 में जब मोदी सरकार सत्ता में आई तब इस पर तेजी से काम शुरू हुआ। 2015 में दोनों देशों ने इस समझौते के लिए हस्ताक्षर किए थे।
माेदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे, पीएम बोले हमें पता है चुनौतियों का सामना कैसे होता

 

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk