क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: रांची पुलिस और ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम ने बुधवार को नशीली दवाओं के कारोबार पर बड़ी कार्रवाई की है. रांची के सुखदेव नगर इलाके के अमरूद बगान में राज्य स्तर पर नशीली दवाओं को स्टॉक कर सप्लाई की जा रही थी. रांची के अलावा राज्य के सभी जिलों में नशीली दवाएं भेजी जा रही थीं. पुलिस व ड्रग कंट्रोल विभाग ने बुधवार को 500 पेटी कफ सीरप व अन्य नशीली दवाओं की खेप बरामद किया है. इसकी कीमत 75 लाख से एक करोड़ आंकी जा रही है. छापेमारी के दौरान नशे का कारोबार करने वाला संतोष कुमार गुप्ता मौके से फरार हो गया. हालांकि पुलिस ने उसके पिता कलेश्वर प्रसाद गुप्ता को हिरासत में ले लिया है. उससे पूछताछ चल रही है. पुलिस के अनुसार हिमाचल प्रदेश के बद्दी से नशीली दवाओं की खेप लायी जाती थी. जिसे वाया चतरा रांची पहुंचाया जा रहा था. पुलिस इस पूरे रैकेट को खंगालने में जुटी है. ड्रग कंट्रोल विभाग को हर हाल में इस कारोबार को रोकने का निर्देश दिया गया था. इसके बाद हरकत में आई विभाग ने स्टॉकिस्ट के यहां छापेमारी कर भारी मात्रा में नशीली दवाएं बरामद की है.

ग्राहक बनकर पहुंची टीम

ड्रग कंट्रोल विभाग और पुलिस की टीम ग्राहक बनकर इस पूरे रैकेट का भंडाफोड़ करने पहुंची थी. टीम ने दीपक सिंह नाम के व्यक्ति से संपर्क किया. जिस कूरियर के जरिए नशीली दवाओं की डिलीवरी होती थी पुलिस वहां पहुंची और सबसे पहले पांच पेटी नशीली दवाएं जब्त की. इसके बाद उसी की निशानदेही पर पुलिस स्टॉकिस्ट तक पहुंची. पुलिस के अनुसार दवा कारोबारी संतोष कुमार गुप्ता अधिक मुनाफा के लिए आरके इंटरप्राइजेज नामक दवा एजेंसी की आड़ में नशीली दवाओं के धंधे से जुड़ गया था. इन दवाओं को दस गुना अधिक कीमत पर बाजारों में बेचता था. पुलिस संतोष की गिरफ्तारी के लिए संभावित जगहों पर छापेमारी कर रही है.

कोडीन फॉस्फेट के कंपोजिशन से बनी है दवा

स्टॉकिस्ट आरके इंटरप्राइजेज के पास से बरामद नशीली दवाएं पूरे देश में प्रतिबंधित है. इस दवा में कोडिन फॉस्फेट का कंपोजिशन है, जो एचवन ड्रग के शिड्यूल में शामिल है. ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारियों के अनुसार इस दवा का कंपोजिशन ऐसा है कि इसका ओवरडोज किसी भी व्यक्ति को नशे का आदी बना देता है. बिना किसी चिकित्सक की लिखी पर्ची के यह दवा किसी मरीज को नहीं दी जा सकती. लेकिन कई दुकानदार इसे बेरोकटोक बेच रहे हैं.

यहां होती है बिक्री

नशीली दवाओं की सर्वाधिक बिक्री रातू रोड, चुटिया, रेडियम रोड और रिम्स के आसपास होती है. इसके अलावा सुखदेव नगर क्षेत्र के रातू रोड, मधुकम, रूगड़ीगढ़ा, चूना भट्टा, अरगोड़ा के हरमू मैदान, हरमू नदी के पास, कोतवाली क्षेत्र के जालान रोड, रांची रेलवे स्टेशन के पास, हटिया, धुर्वा बस स्टैंड, शालीमार बाजार, मोरहाबादी मैदान के पास, सर्कुलर रोड स्थित न्यूक्लियस मॉल के पीछे गली में, हिंदपीढ़ी और कर्बला चौक इलाके में खूब नशीली दवाएं बिक रही हैं. इन जगहों पर स्कूटी पर भी सप्लाई किया जा रहा है.