-बुद्धिस्ट फॉलोअर्स के लिए रेलवे 24 नवंबर से चलाएगा बौद्ध सर्किट ट्रेन

-लग्जरी सुविधाओं से लैस रहेगी ट्रेन, वाराणसी, नालंदा, लुंबिनी, कुशीनगर होते पहुंचेगी नई दिल्ली

varanasi@inext.co.in

VARANASI

बौद्ध सर्किट ट्रेन अब सैलानियों को भगवान बुद्ध से जुड़े धार्मिक स्थलों का दर्शन कराएगी. नवंबर से स्टार्ट हो रही यह ट्रेन वाराणसी (उत्तर प्रदेश), नालंदा (बिहार), लुंबिनी (नेपाल), कुशीनगर (उत्तर प्रदेश) से होते हुए नई दिल्ली पहुंचेगी. यह पूरा सफर आठ दिनों का होगा. जापानी टूर ग्रुप ने इस ट्रेन में पहली बुकिंग भी करा ली है. हमसफर व तेजस के बाद रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में इस ट्रेन के लिए खास तरह के कोच का निर्माण किया जा रहा है. ट्रेन के कोचेज का इंटीरियर भी बौद्ध धर्म की थीम को ध्यान में रखकर बनाया जा रहा है. इस ट्रेन को 24 नवंबर से रवाना करने का प्लान है.

सोफे से लॉकर तक

इस ट्रेन के कोच में टूरिस्ट्स को खिड़कियों के पास बैठने के लिए सोफेलगाए जा रहे हैं. लंच व डिनर के लिए कॉमन डाइनिंग रूम बनाया जा रहा है. हाई फाई टेबलों के साथ लगी शानदार कुर्सियों पर बैठकर यात्री विभिन्न मेन्यू के खानपान का आनंद उठा सकेंगे. ट्रेन में पैसेंजर्स के कीमती सामान को सुरक्षित रखने के लिए कोच में डिजीटल लॉकर भी लगाया जा रहा है. ट्रेन के लिए आरएफसी 12 स्पेशल कोच आईआरसीटीसी की डिजाइन के अनुसार बनाया जा रहा है. इनमें फ‌र्स्ट एसी के चार व सेकेंड एसी के दो टूरिस्ट कोच, दो डाइनिंग कार, एक पैंट्री कार, एक थर्ड एसी कोच तथा दो पावर कार रहेंगे.

एक-एक दिन ठहरेगी

ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन से हर शनिवार को दोपहर में चलेगी. सबसे पहले अगले दिन रविवार सुबह बिहार के बौद्ध गया पहुंचेगी. एक दिन वहां रुकने के बाद राजगीर और नालंदा पहुंचेगी. रात में यात्री होटल में रुककर डिनर करेंगे. अगले दिन यह ट्रेन वाराणसी के सारनाथ पहुंचेगी. एक दिन यहां ठहराव के बाद लुंबिनी के लिए रवाना होगी. इसके अगले दिन कुशीनगर और फिर श्रावस्ती व आगरा में एक-एक दिन रुकने के बाद शनिवार को वापस नई दिल्ली पहुंचेगी.

प्रत्येक पैसेंजर होगा इंश्योर्ड

ट्रेन के फ‌र्स्ट एसी कोच में 24 बर्थ होंगे तथा इसके बाथरूम में शॉवर के लिए वाटर गीजर, हैंड ड्रायर आदि लगे रहेंगे. सभी कोचेज में स्मोक अलार्म के अलावा सीसी कैमरे की व्यवस्था रहेगी. प्रत्येक डायनिंग कार में भी 64 सीटें लगाई जा रही हैं. इसमें कॉफी वेंडिंग मशीन भी रहेगी. बाहरी दृश्य देखने के लिए पारदर्शी विंडो लगाया जा रहा है. हर कोच में सिक्योरिटी गार्ड होंगे. सफर करने वाले सभी पैसेंजर्स का इंश्योरेंस होगा.

एसी से कूपे का इंतजाम

एक व्यक्ति का किराया फ‌र्स्ट क्लास एसी में लगभग 85 हजार रुपये (1155 डॉलर), एसी सेकेंड क्लास में लगभग 69 हजार रुपये (945 डॉलर), वन एसी कूपे में लगभग 96 हजार रुपये (1305 डॉलर) होगा. इसमें फूडिंग व लॉजिंग भी शामिल है.