पर्सनल आईडी का प्रोफेशन यूज करने वाला चढ़ा हत्थे

आरपीएफ पोस्ट इलाहाबाद व डिटेक्टिव विंग ने मिलकर की छापेमारी

PRAYAGRAJ: रेलवे द्वारा यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं का मिसयूज शातिर खुलेआम कर रहे हैं. ऐसे ही एक मामले का खुलासा शुक्रवार को आरपीएफ और डिटेक्टिव विंग द्वारा किया गया. प्रीतमनगर एरिया स्थित ट्रेवल एजेंसी में युवक द्वारा सेल्फ यूजर आईडी से ई टिकट बनाते रंगे हाथों पकड़ा गया. अधिक खोजबीन में पता चला कि युवक 2014 से अब तक 9 सेल्फ यूजर आईडी के माध्यम से बीस लाख से अधिक लागत के 1089 ई टिकट बना चुका था. इन टिकटों के माध्यम से हजारों लोग यात्रा भी कर चुके हैं.

मौके पर मिले 4 ई टिकट

आरपीएफ को प्रीतमनगर एरिया के संकटमोचन ट्रेवल्स एजेंसी में फर्जी तरीके से रेलवे के ई टिकट बनाने का सूचना मिल रही थी. खबर की पुष्टि होने पर शुक्रवार को आरपीएफ, डिटेक्टिव विंग और सिविल पुलिस ने संयुक्त रूप से एजेंसी में छापेमारी की. इस दौरान मौके पर प्रीतम नगर कर रहने वाला लव शर्मा नामक युवक सेल्फ यूजर आईडी के माध्यम से फर्जी ई टिकट बनाते पकड़ा गया. उसने बताया कि इस धंधे में उसे अधिक पैसे कमाने को मिलते हैं. पुलिस के पूछताछ में उसने बताया कि स्वयं की 9 यूजर आईडी हैं. मौके पर 6434 रुपए की लागत के 4 ई टिकट मिले हैं. बल्कि 23595 रुपए के 15 प्रिंटेड टिकट मिले हैं जिनके जरिए पूर्व में यात्राएं की जा चुकी हैं.

लंबे समय से काट रहा था चांदी

युवक इस फर्जीवाड़े के जरिए लंबे समय से मोटी रकम कमा चुका था. पूछताछ और छानबीन में बताया कि आईआरसीटीसी की 9 यूजर आईडी के जरिए वह 2014 से अब तक अवैध ई टिकट बनाकर कुल 2033985 रुपए कमा चुका है. पुलिस इस धंधे में लिप्त अन्य लोगों का पता लगाने में जुटी है. मौके से एक डेस्क टॉप, एक सीपीयू, प्रिंटर, कीबोर्ड सहित एक मोबाइल व 2760 रुपए नकद बरामद किए गए हैं. आरोपी के खिलाफ धारा 143 रेलवे एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.