- त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में होगी मतगणना

-प्रत्याशियों एवं प्रेक्षकों की उपस्थिति में खुलेंगे स्ट्रांग रूम-डीएम

मतगणना स्थल पर प्रतिबंधित रहेगा मोबाइल

मतगणना के परिणामों के बाद हर्ष जलूस पूर्ण प्रतिबंधित

Meerut: कताई मिल स्थित मतगणना स्थल पर त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरे में मतगणना होगी. प्रत्याशियों और प्रेक्षकों की उपस्थिति में 11 मार्च को प्रात: 7 बजे स्ट्रांग रूम को खोला जाएगा. डीएम/जिला निर्वाचन अधिकारी बी. चन्द्रकला ने शुक्रवार को प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि विधानसभा मतगणना कार्य निष्पक्षता के साथ शान्तिपूर्ण सम्पन्न कराया जाएगा. किसी भी तरह का जलूस मतगणना स्थल या शहर में नहीं निकलने दिया जाएगा.

6.30 बजे पहुंचे मतगणनाकर्मी

532 मतगणनाकर्मियों के अलावा समस्त तैनाती 11 मार्च को सुबह 6:30 बजे कताई मिल स्थित मतगणना स्थल पहुंचकर सौंपे गये दायित्वों को कुशलता से निर्वहन करेंगे. कलक्ट्रेट स्थित बचत भवन में आरओ/एआरओ एवं सभी राजनैतिक दलों के उपस्थित प्रत्याशियों/प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए डीएम ने कहा कि समस्त प्रक्रिया की वीडियोग्राफी करायी जाएगी. डाक मतपत्र ट्रेजरी में रखे गए हैं और मतगणना की प्रात: सुरक्षाबलों एवं पार्टी प्रतिनिधियों के साथ उन्हें मतगणना स्थल पर पहुंचाया जाएगा.

पोस्टल बैलेट की पहले होगी गणना

डीएम ने बताया कि सबसे पहले डाकमत पत्रों की मतगणना होगी. प्रात: 8 बजे तक प्राप्त डाक मतपत्रों को मतगणना में शामिल किया जाएगा. मतगणना स्थल पर मोबाइल, धूम्रपान व ज्वलनशील पदार्थ पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा. हॉल में 15 टेबल लगायी जाएगी जिसमें से 14 पर मतगणना व एक टेबल आरओ की होगी. प्रत्येक विधानसभा के मतगणना पडाल व मतगणना स्थल के प्रवेशद्वार पर सीसीटीवी कैमरे स्थापित कराए गए हैं.

7 प्रेक्षक होंगे तैनात

डीएम ने बताया कि आयोग की ओर से मतदान के दौरान 5 सामान्य प्रेक्षक तैनात किए गए थे जबकि मतगणना के दौरान 7 सामान्य प्रेक्षकों को मेरठ में तैनात किया गया है. मतगणना का परिणाम प्रेक्षक की लिखित अनुमति के अनुसार ही घोषित किया जाएगा. किसी भी प्रत्याशी को उसकी विधानसभा क्षेत्र में कुल पड़े मतों का 1/6 से कम मत प्राप्त होने पर उसकी जमानत राशि जब्त होगी.

कड़ा होगा सुरक्षा घेरा

एसपी सिटी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि मतगणना स्थल पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की गई है कताई मिल के दोनों ओर 2 किमी के बीच दो बेरीकेडिंग लगाकर सड़क को 'नो व्हीकल' किया जाएगा. एक पेट्रोलिंग पार्टी सड़क पर तैनात रहेगी जबकि 6 पेट्रोलिंग पार्टियां परिसर के अंदर ईवीएम को लाने-लेजाने के दौरान आरओ-एआरओ के साथ रहेंगी. चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर रहेगी. कताई मिल में रूफ टॉप पर भी पुलिस तैनात होगी.

सुरक्षा पर एक नजर..

10-राजपत्रित पुलिस अधिकारी (सीओ)

23-इंस्पेक्टर

159-सब इंस्पेक्टर

56-हेड कॉस्टेबल

558-कांस्टेबल

94-लेडी कांस्टेबल

17-यातायात पुलिसकर्मी

2 कंपनी (200 जवान)-पीएसी

ये रहे मौजूद

एडीएम प्रशासन दिनेश चन्द्र, वित्त/रा. गौरव वर्मा, नगर मुकेश चन्द्र, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अरविन्द सिंह, नगर मजिस्ट्रेट अवधेश सिंह, एसडीएम मवाना अरविन्द कुमार सिंह, सरधना राकेश कुमार सिंह, सीओ परतापुर धमेन्द्र चौहान आदि इस दौरान मौजूद थे.