...और माहौल enthusiastic हो गया
 कभी एबीएम कॉलेज के स्टूडेंट्स मां दुर्गा, काली और शिव के रूप में सामने आए तो कभी एक्सआईटीई के स्टूडेंट्स ने माहौल को पेट्रिऑटिक बना दिया. कभी करीम सिटी के स्टूडेंट्स ने अपना जलवा दिखाया तो दूसरे ही पल केएमपीएम से आए स्टूडेंट्स के परफॉर्मेंस पर तालियां बजीं. माहौल इंथूजियास्टिक था क्योंकि यूथ मस्ती के मूड में थे. जी हां,

6 colleges के students ने किया participate
सर्व-मिलन द्वारा ऑर्गेनाइज यूथ फेस्टिवल में सिटी के 6 कॉलेजेज के करीब 6 सौ स्टूडेंट्स ने पार्टिसिपेट किया. जिन कॉलेजेज का पार्टिसिपेशन रहा, उनमें करीम सिटी कॉलेज, एबीएम कॉलेज, एक्सआईटीई, केएमपीएम कॉलेज, को-ऑपरेटिव कॉलेज और लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल कॉलेज शामिल थे. इनके अलावा ऑडियंस के रूप में भी सिटी के कई कॉलेजेज के स्टूडेंट्स प्रजेंट रहे.

दिखा students का टेलेंट
प्रोग्राम के दौरान ग्रुप डांस, ग्रुप सांग और सोलो छोटा खयाल सांग जैसे इवेंट्स प्रजेंट किए गए. ग्रुप डांस में करीम सिटी के
स्टूडेंट्स ने बाजी मारी तो ग्रुप सांग में एक्सआईटीई के स्टूडेंट्स रहे नंबर वन पर. सोलो छोटा खयाल सांग में केएमपीएम के सुब्रतो रॉय ने सबको पीछे छोड़ा. ग्रुप सांग में स्टूडेंट्स ने पेट्रिऑटिक सांग प्रजेंट किए. इसके अलावा मैजिक शो का लुत्फ भी ऑडियंस ने उठाया.

ऐसे बना सर्व मिलन  
जरूरतमंद स्टूडेंट्स को इकोनॉमिक सपोर्ट प्रोवाइड कराने के लिए 16 अप्रैल 2011 को सिटी के सभी कॉलेजेज के स्टूडेंट्स को साथ लेकर सिटी स्थित लोयला के रिटायर्ड टीचर फादर इमिल कोइलो ने ‘सर्व मिलन’ नाम से एक ऑर्गेनाइजेशन स्टेबलिश किया. इसके तहत सिटी के स्टूडेंट्स को एक मंच प्रोवाइड किया गया जहां वे एक दूसरे के साथ मिल सकें और उन्हें एक्सपोजर मिले. सर्व-मिलन द्वारा महामेला ऑर्गेनाइज किया जाता है, जिसमें स्टूडेंट्स डिफरेंट स्टॉल्स लगाते हैं और उससे फंड इकट्ठा किया जाता है ताकि अंडरप्रिविलेज स्टूडेंट्स को हेल्प मिल सके. सर्व-मिलन वैसे स्टूडेंट्स की संस्था है, जो सिटी में रहकर पढ़ाई करते हैं. पैसे वाले तो दूसरी सिटीज में चले जाते हैं. हम चाहते हैं कि यहां के स्टूडेंट्स एक साथ एक मंच पर आएं, उन्हें एक्सपोजर मिले. वे एक-दूसरे को जानें और हेल्प करें.
- फादर इमिल कोइलो,
कन्वेनर सर्व-मिलन

Report by: jamshedpur@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk