नई दिल्ली (पीटीआई)। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने क्रिकेट की सबसे बड़ी संस्था की तीखी आलोचना की है। अख्तर की मानें तो आईसीसी ने पिछले 10 वर्षों में क्रिकेट को "सफलतापूर्वक समाप्त" कर दिया है और इसे घुटनों पर ला दिया है। ईएसपीएनक्रिकइंफो के पोडकास्ट के लिए संजय मांजरेकर के साथ बातचीत के दौरान, अख्तर ने सफेद गेंद क्रिकेट में खेलने की कुछ शर्तों पर अपनी पीड़ा व्यक्त की, जिसने इसे केवल सिर्फ बल्लेबाजों का खेल बना दिया है।

आईसीसी खत्म कर रहा है क्रिकेट

जब मांजरेकर ने कहा कि तेज गेंदबाजों की गति सीमित ओवरों के खेल, खासकर टी -20 में धीमी होती जा रही है जबकि स्पिनर तेजी से गेंदबाजी कर रहे हैं। इस पर अख्तर कहते हैं, 'क्या मैं आपको कुछ बता सकता हूं? वे (ICC) क्रिकेट को खत्म कर रहे हैं। मैं खुले तौर पर कह रहा हूं कि पिछले 10 वर्षों में, ICC ने क्रिकेट को सफलतापूर्वक समाप्त कर दिया है।' अख्तर को लगता है कि प्रति ओवर बाउंसरों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए क्योंकि आपने वनडे में दो नई गेंदें शुरु कर दी, पॉवरप्ले ले आए। ऐसे में यह सिर्फ बल्लेबाजों का खेल रह गया।

गेंदबाजों को कर रहे कमजोर

शोएब कहते हैं, 'मैं बार-बार कह रहा हूं कि बाउंसर नियम बदलो (प्रति ओवर एक)। तुम्हारे पास दो नई गेंदें और चार क्षेत्ररक्षक हैं। कृपया ICC से पूछें कि क्या पिछले 10 वर्षों में, क्रिकेट की गुणवत्ता बढ़ गई है या नीचे चली गई है। सचिन बनाम शोएब का मुकाबला अब कहां दिखता है।" तेंदुलकर के बारे में बोलते हुए, अख्तर ने कहा कि वह एक ऐसा व्यक्ति है जिसके साथ वह कभी आक्रामक नहीं हुआ, क्योंकि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के लिए प्रति बहुत सम्मान था। उन्होंने कहा, "हां, मैं उन्हेंं पछाडऩे की कोशिश जरूर करता था। 2006 के पाकिस्तान दौरे में, मुझे पता था कि उन्हेंं टेनिस एल्बो की समस्या है और वह मुझे हुक नहीं दे सकते या मुझे नहीं खींच सकते, इसलिए मैंने उन्हेंं शांत रखने के बाउंसर फेंके।'

कोहली को मानते सबसे बड़ा दुश्मन

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा कि अगर वह वर्तमान में खेल रहे होते तो मैदान के अंदर विराट कोहली उनके सबसे बड़े दुश्मन होते। हालांकि मैदान के बाहर वह दोनों अच्छे दोस्त भी होते। अख्तर ने यह भी कहा कि वह मैच के दौरान कोहली को कवर ड्राइव शॉट लगाने का चैलेंज भी देते। अख्तर ने संजय मांजरेकर को बताया, 'विराट कोहली और मैं सबसे अच्छे दोस्त रहे होंगे क्योंकि हम दोनों पंजाबी हैं, लेकिन मैदान पर, हम सबसे अच्छे दुश्मन होते। मैंने कोहली को बताता कि, वो मेरे खिलाफ कट या पुल शॉट नहीं खेल सकते।' अपनी तेज गेंदबाजी के लिए फेमस रहे अख्तर ने कहा, 'मैं क्रीज से बाहर से गेंद फेंकता, जो कोहली से दूरी होती। ऐसे में विराट को मजबूरन कवर ड्राइव लगाना पड़ता। आप अंदाजा लगा सकते हैं मेरी तेज गेंद पर यह आसान नहीं रहता।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk