कानपुर। प्याज काटने से आंसू न आएं इसका तरीका जानने से पहले जरा यह भी जान लीजिए कि यह हमें रुलाता क्यों है?

दरअसल प्याज "बाहरी पत्तियों" (भूरी परत), "कलियों (सफेद रसदार खाद्य भाग), और "जड़" से मिलकर बन होता है | जब आप इस जड़ को काटते हैं, तो प्याज़ में से एक एंजाइम (enzyme) निकलता है, जो प्याज के बाकी हिस्सों से प्रतिक्रिया करते हुए एक गैस छोड़ता है। इसी गैस के कारण ही हमारी आँखों से आंसू बहने लगते हैं।

प्याज काटिए,बगैर आंसू बहाए

अब जानिए वो आसान तरीके, जिनके कारण प्याज काटते वक्त भी आपकी आंखों से आंसू नहीं बहेंगे।

1 - प्याज को ठंडा करें
प्याज को काटने से पहले उसे फ्रीजर में 10-15 मिनट तक ठंडा होने के लिए रख दें

2 - गरम पानी या भाप के पास प्याज काटें
गरम केतली या गरम पैन के पानी से आपको मदद मिल सकती है | भाप प्याज से बाहर निकाल रहे उसके एसिड को निष्क्रिय कर देती है |

3 - प्याज को पानी में काटें
प्याज को बहते पानी या पानी भरे कटोरे में काटने से आंसू नहीं आते, परन्तु यह प्रक्रिया थोड़ी कठिन हो सकती है | पानी में हाथ ठीक से नहीं चलते हैं।

4 - प्याज को पानी में भिगो दीजिये
इससे प्याज के एंजाइम निष्क्रिय हो जाएंगे। हालांकि, इस विधि से प्याज थोड़ी फिसलन भरी हो जाती है और उसके स्वाद में भी थोडा अंतर आ जाता है। जब आप प्याज काटें तो इस विधि को अपना सकते हैं।

प्याज काटिए,बगैर आंसू बहाए

5 - चाकू को प्याज के अंदरूनी हिस्से से दूर रखें
प्याज के छिलके नलाकार होने के कारण, अगर आप प्याज काटते समय, उसके अंदरूनी हिस्से को अपने चाकू से दूर रखेंगे तो आपकी आँखों में प्याज की गैस नहीं जायेगी।

6 - बहती हवा में न काटें प्याज
थोड़ी सी हवा से भी प्याज की गैस आपकी आँखों में जा सकती है इसलिए अगर इस दौरान आप पंखे को न चलाएँ तो प्याज की गैस आपकी आंखों में कम से कम जाएगी।

Posted By: Chandramohan Mishra

inext-banner
inext-banner