ट्रैफिक सपोर्ट टीम ने सवारी छात्रों का फोटो खींच कर किया था ट्वीट

एसएसपी ने परिजनों को दी हिदायत, किया गया चालान

आगरा. ट्रैफिक रूल को कड़ाई से पालन कराने के बाद भी लोग नहीं मान रहे हैं. खास कर स्कूली बच्चे इस खतरे को हल्के में ले रहे हैं. स्टूडेंट अपने वाहनों से फर्राटा भरते हैं साथ ही तीन और चार सवारी चलते हैं. ट्रैफिक सपोर्ट टीम ने ऐसे स्टूडेंट का फोटो खींच कर यूपी पुलिस और एसएसपी को ट्वीट कर दिया.

एमजी रोड से जा रहे थे

शुक्रवार की दोपहर 12 बजे एमजी रोड सूरसदन के पास से जुपिटर स्कूटर पर एक स्कूल के चार छात्र जा रहे थे. स्कूटर चलाने वाला छात्र सीट के अंतिम हिस्से में किसी तरह बैठा था जबकि पीछे बैठा छात्रा ऐसी स्थिति में बैठा था कि थोड़ा भी बैलेंस बिगड़े तो गिर जाए. बीच में बैठे दो छात्र फंसे हुए थे. वहां पर ट्रैफिक सपोर्ट टीम के लोग काम कर रहे थे.

फोटो किया सभी को ट्वीट

ट्रैफिक सपोर्ट टीम के सदस्यों ने इस मामले को कैमरे में कैद कर लिया. इसके बाद फोटो यूपी पुलिस, आगरा ट्रैफिक पुलिस, आगरा पुलिस और एसएसपी अमित पाठक को ट्वीट कर दिया. फोटो में साफ दिखाई दे रहा है कि छात्र कितनी खतरनाक स्थित में जा रहे है. जरा सी चूक बड़ा हादसा हो सकता है. इस मामले में कार्रवाई की बात की.

एसएसपी ने परिजनों को बुलाया

एसएसपी ने ट्वीट किए गए मामले का संज्ञान लिया. पुलिस ने स्कूटर का नम्बर लेकर छात्र के घर का पता निकाल लिया. छात्र हरीपर्वत क्षेत्र का रहने वाला है. शनिवार को पुलिस टीम उसके घर पर पहुंच गई. घर पर छात्र की मां मिली. पिता मथुरा में टीचर बताए गए. पिता से फोन पर बात की. पिता ने शाम को कार्यालय आने की बात की.

परिजनों को दी हिदायत

शनिवार की शाम को पिता एसएसपी के पास पहुंच गए. एसएसपी ने उनको बच्चों की हरकत के बारे में बताया साथ ही उन्हें ट्रैफिक नियमों के बारे में बताया. पिता को बताया कि बच्चों की जरा सी नादानी क्या करा सकती है. इस तरह से जान हथेली पर लेकर चलना कितना उचित है. एसएसपी ने उन्हें हिदायत दी कि वह अपने बच्चों को समझाए और जागरुक करें. बेटे की हरकत पर पिता शर्मिदा थे. इस मामले में चालान किया गया है.