- फेसबुक पर करता था चैटिंग, एडमिशन का देता था झांसा

- छात्रा के परिजनों ने देख लिए मैसेज तो खुली करतूत

bareilly@inext.co.in
BAREILLY : सफाई कर्मी के साथ मिलकर कॉलेज में प्राइवेट तौर पर काम करने वाला एक इलेक्ट्रीशियन भी व्हाट्सएप पर छात्रा से चैटिंग करने लगा। पोल खुली तो आरोपी सफाईकर्मी ने फ्राइडे को प्राचार्य के कक्ष में पहुंचकर जहर खा लिया। आनन-फानन में चीफ प्रॉक्टर ने स्टाफ की मदद से उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया।

यह है मामला
करीब सप्ताह भर पहले एक छात्रा अपनी मां और भाई के साथ प्राचार्य के पास पहुंची थी। परिजनों ने राकेश नाम के टीचर पर गंभीर आरोप लगाए। इस पर प्राचार्य ने उन्हें बताया कि इस नाम का कॉलेज में कोई टीचर नहीं है। कुछ देर बाद छात्रा व परिजनों ने दोनों आरोपियों को पकड़कर प्राचार्य के सामने पेश कर दिया। जिस पर प्राचार्य ने उन्हें बताया कि इसमें एक कॉलेज का दैनिक भोगी सफाईकर्मी राकेश और दूसरा निजी इलेक्ट्रीशियन अमित है, जो कनिष्ठ लिपिक सुरेश पाल के बुलाने पर बिजली ठीक करने आता है। पोल खुलने पर दोनों आरोपी माफी मांगने लगे। छात्रा के परिजनों ने उनके खिलाफ कोई लिखित शिकायत नहीं की। जिस पर प्राचार्य ने भी आरोपियों को चेतावनी देकर छोड़ दिया था।

पहले माफी मांगी, फिर खाया जहर
प्राचार्य डॉ। अजय शर्मा ने बताया कि फ्राइडे को राकेश कुमार उनके कार्यालय आया और इस मामले में अमित के साथ शामिल नहीं होने की बात कहने लगा। कुछ देर बाद कार्यालय के किचन में चला गया। वहां कर्मचारी से पानी मांगा और जेब से रखा जहर निकालकर खा लिया। कर्मचारी ने इसकी सूचना दी तो राकेश प्रांगण की ओर दौड़ पड़ा। टीचर व स्टाफ ने उसे पकड़ा और हॉस्पिटल में एडमिट कराया।

ऐसे खुली पोल

सफाईकर्मी राकेश के पिता जंतु विज्ञान प्रयोगशाला में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी हैं। इलेक्ट्रीशियन अमित भी अक्सर कॉलेज आता था। इसके चलते दोनों में दोस्ती हो गई। दोनों ने राकेश के नाम से फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाई, जिसमें राकेश ने खुद को कॉलेज का टीचर बताकर छात्रा से बातचीत शुरू कर दी। आरोप है कि राकेश कुमार के नाम से फेसबुक अकाउंट बनाया गया, जिससे अमित छात्रा के साथ चैटिंग करने लगा। छात्रा भी उन्हें टीचर समझकर बात करने लगी। करीब सप्ताह भर पहले अमित कॉलेज के ग‌र्ल्स हॉस्टल में बिजली रिपेयरिंग का काम कर रहा था। तभी छात्रा को वहां आने के लिए व्हाट्सएप पर मैसेज भेजे। यह मैसेज छात्रा के परिजनों के हाथ लग गए और उन्होंने कॉलेज पहुंचकर जब प्राचार्य से शिकायत की तो हकीकत सामने आ गई।

- छात्रा व परिजनों ने अमित पर ही गंभीर आरोप लगाए थे। फ्राइडे को राकेश कुमार कार्यालय आया और अमित के साथ शामिल नहीं होने की बात कहने लगा। कुछ देर बाद उसने जहर खा लिया। स्टाफ ने उसे हॉस्पिटल में एडमिट करा दिया है।

डॉ। अजय शर्मा, प्राचार्य बरेली कॉलेज बरेली

Posted By: Inextlive