-करेली में युवक ने पंखे से घरेलू कलह में लटककर दी जान

BAREILLY: उसने जान देने की ठान ही ली थी, एक बार तो किस्मत ने उसका साथ दिया लेकिन दूसरी बार किस्मत ने दगा दे दिया और उसकी जान चली गई. मामला सुभाषनगर के करेली का है. यहां एक शख्स ने पहले खुद को कमरे में बंद करके आग लगाकर जान देने की कोशिश की लेकिन वह बच गया. एक सप्ताह बाद वह कमरे में पंखे से फंदे पर लटक गया और उसकी मौत हो गई. उसकी मौत के बाद उसके घर और ससुराल वालों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हाे गया है.

15 दिन पहले बेटी का जन्म

40 वर्षीय हरपाल पुत्र मोहनलाल, सुभाषनगर के करेली में रहता था. उसके परिवार में पत्‍‌नी शीला और 15 दिन की बेटी है. शीला ने पहले पति ने छोड़ दिया था और उससे बच्चा भी नहीं था. हरपाल शराब के नशे में आए दिन पत्‍‌नी से झगड़ा करता था. जब शीला गर्भवती थी तो भी वह उसके साथ मारपीट करता था. इस पर उसके मायके वाले करेली में आकर ही किराये पर रहने लगे थे. वह मूलरूप से कैंट के रहने वाले हैं. बेटी के नामकरण में भी किसी बात को लेकर भाई से झगड़ा हो गया था तो पत्‍‌नी मायके में रहने चली गई थी.

पत्नी ने दी पुलिस को सूचना

मंडे को दोपहर हरपाल ने कमरे में बंद कर पंखे से लटककर जान दे दी. उसने गले में रस्सी का फंदा लगाया था. दोपहर बाद जब पत्‍‌नी घर पहुंची तो देखा कि शव लटका हुआ है तो उसने यूपी 100 को सूचना दी. मौके पर पीआरवी पहुंची और फिर थाना पुलिस को भी बुलाया गया. पुलिस सुसाइड की वजह घरेलू कलह बता रही है.

16 दिसंबर को लगाई थी आग

पुलिस के मुताबिक 16 दिसंबर की रात में हरपाल ने घर के अंदर कमरे में आग लगा ली थी. उसने खुद को कमरे में बंद भी कर लिया था, जिसमें सारा सामान जल गया था लेकिन वह बच गया था. उसने ससुराल वालों पर आग लगाने का आरोप लगाते हुए शिकायत भी की थी. पुलिस उसे पकड़कर थाने ले आयी थी लेकिन बाद में उसने समझौता कर ि1लया था.

हत्या का लगा रहे आरोप

हरपाल की मौत के बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. हरपाल के पिता ने उसकी पत्‍‌नी और ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया है. आरोप लगाया कि छत के रास्ते से आकर बेटे को फंदे पर लटका दिया है. वहीं पुलिस को हरपाल के पास से 30 रुपए और मोबाइल फोन मिला है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा.

एक शख्स ने फंदे पर लटककर जान दी है. एक सप्ताह पहले उसने कमरे में बंद कर आग भी लगा ली थी. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा.

हरिश्चंद्र जोशी, एसएचओ सुभाषनगर