ऑफिसर्स का अनुमान है कि इन प्रतिष्ठानों ने करोड़ों रुपए के टैक्स की हेराफेरी की है. डिपार्टमेंट की टीम ने शामिल ज्वाइंट कमिश्नर एसके शर्मा, इनकम टैक्स आफिसर एमएमके अŽबास, डिप्टी कमिश्नर एके सिंह, इनकम टैक्स आफिसर पीके आर्य, प्रफुल्ल कुमार, लक्ष्मण सिंह, ने ट्रेडर्स ऑफिसर्स ने इनकम से संबंधित सारे दस्तावेज कŽजे में लेते हुए घंटों पूछताछ की.

'प्रतिष्ठानों की ओर से घोषित आय और वास्तविक इनकम में तालमेल नहीं होन से आशंका के आधार पर डिपार्टमेंट आफिसर्स ने जांच शुरू की है. ट्रेडर्स और डेवलपर के यहां से कŽजे में लिए गए डाक्यूमेंट्स की हम जांच कर रहे हैं.'
-रणंजय सिंह, कमिश्नर इनकम टैक्स