परिसर में कई दिनों से परेशान हैं मरीज और तीमारदार

पैथालॉजी रूम तक जाने में मरीजों को हो रही है दिक्कत

ALLAHABAD: केन्द्रीय रेलवे चिकित्सालय में इन दिनों बंदरों के आतंक से हर कोई परेशान है. बंदरों का आतंक इतना है कि उनके डर से कोई भी मरीज जांच के लिए एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, पैथालॉजी रूम तक जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाता है. मरीज और तीमारदारों ने हॉस्पिटल प्रशासन से मौखिक शिकायत भी की. हॉस्पिटल प्रशासन ने सुधार का भरोसा भी दिलाया, लेकिन अभी तक मरीजों और तीमारदारों को बंदरों के आतंक से छुटकारा नहीं मिला है.

पानी के लिए भी हो रही दिक्क्त

रेलवे हॉस्पिटल की समस्या के बारे में जानकारी देते हुए एमसीआरएमयू के उपाध्यक्ष नागेन्द्र बहादुर सिंह ने बताया कि सोमवार को भी बंदरों के झुंड ने एक्सरे, अल्ट्रासाउंड, पैथालॉजी रूम के सामने बिजली के वायर और बोर्ड, नेम प्लेट आदि को तहस नहस कर दिया. दो वार्ड के बीच में पीने के पानी के लिए सिर्फ एक नल है. वहां भी बंदरों का आतंक दिन भर रहता है. ऐसे में कई बार मरीजों को पीने के पानी के लिए भी परेशानी उठानी पड़ती है. यही नहीं अस्पताल में कई जगहों पर गंदगी की भरमार है.