क्त्रड्डठ्ठष्द्धद्ब : बहनों की रक्षा का संकल्प है राखी का त्यौहार. इस दौरान भाई-बहन के बीच का प्यार रक्षा सूत्र में पिरोया जाता है. सदियों से चली आ रही इस परंपरा में वक्त के साथ कई बदलाव भी आये हैं. बदलते दौर के साथ ही इस त्यौहार में भाइयों की ओर से बहनों को दिये जाने वाले तोहफों का आकार-प्रकार भी चेंज हुआ है. दो दशक पहले तक जब बहनें राखी बांधती थीं, तो आम तौर पर भाइयों द्वारा शगुन के रूप में उन्हें पैसे दिये जाते थे. 51, 101 और 251 जैसी रकम भाइयों की हैसियत के अनुसार दिये जाते थे और बहनें भी हंसते-हंसते इसे स्वीकार भी करती थीं. लेकिन, जैसे-जैसे त्यौहारों पर बाजार हावी होता गया, वैसे-वैसे पैसों की जगह तोहफों ने ले ली. आज स्थिति यह है कि राखी के मौके पर बाजार गुलजार हो रहे हैं और भाइयों को अपनी बहनों की जरूरत के हिसाब से गिफ्ट खरीदना पड़ रहा है. आइये जानते हैं कि मार्केट में डिफरेंट इनकम ग्रुप के भाइयों के लिए गिफ्ट के क्या-क्या ऑपशन मौजूद हैं.

मोटी तनख्वाह वालों की पहली पसंद हैं गैजेट्स

गैजेट्स को लेकर युवा वर्ग की दीवानगी जग जाहिर है. लेकिन, गिफ्ट में एक्सपेंसिव गैजेट्स देना हर किसी के बूते की बात नहीं. अच्छी नौकरी करनेवाले या फिर बड़े कारोबारी भाइयों की नजर इन गैजेट्स पर है. मार्केट में सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाले तीन गैजेट्स मौजूद हैं: पहला-मोबाइल, दूसरा-लैपटॉप और तीसरा-टैबलेट. इस बार मोबाइल मार्केट में सैमसंग की जे सिरीज, रेड मी नोट-3, जियोनी, एचटीसी और एलवाईएफ ब्रांड की धूम रही. लैपटॉप में डेल की वॉस्ट्रो और एचपी पैवीलियन भी खूब बिकी. वहीं टैबलेट में आईपैड प्रो 9.7, सैमसंग गैलेक्जी टैब प्रो एस और ह्यूवाइ मेटबुक भी खूब बिके.

प्राइस रेंज - रु 7000 से लेकर 50000.

मिडिल क्लास के लिए ड्रेस है बेस्ट ऑपशन

साल भर पॉकेट मनी बचाकर अपनी बहनों को बेस्ट गिफ्ट देने की चाहत रखने वाले मिडिल क्लास के भाइयों के लिए भी बाजार में एक से बढ़कर एक ऑपशन मौजूद हैं. हालांकि, मिडिल क्लास कपड़ा बाजार में ज्यादा फोकस है. कम उम्र की फैशनेबल बहनों के लिए उनके भाई जींस, टॉप और शर्ट खरीद चुके हैं, तो वहीं ज्यादा उम्र की बहनों के लिए गिफ्ट के रूप में साड़ी भी खूब बिकी है. रांची के कई बड़े मॉल्स में सेल लगा है. इनमें कपड़ों की खरीदारी भी जमकर हुई. एक मोटे अनुमान के अनुसार पिछले दस दिनों में रांची के चार बड़े मॉल्स और इतने ही नामी दुकानों ने 7 करोड़ रुपए के कपड़े बेच डाले.

प्राइस रेंज - रु 350 से लेकर 2500.

कम आय वालों के लिए सजावटी आइटम ही विकल्प

समाज का बड़ा हिस्सा कम आय वालों का ही है. हालांकि, गिफ्ट तो लोअर इनकम वाले भाइयों को भी देना है. इसलिए उनके लिए भी बाजार में कई विकल्प मौजूद हैं. चॉकलेट के पैकेट्स, फोटो फ्रेम, प्रिंटेड पिल्लो कवर, फोटो प्रिंटेड कॉफी मग इस बार ज्यादा ट्रेंड में रहे. रांची में ऐसे कई दुकान खुल गये हैं, जहां इन आइटम्स की जोरदार बिक्री हुई. ज्यादातर भाइयों ने अपनी बहनों के साथ तसवीर वाले कॉफी मग प्रिंट कराये, जिसकी कीमत 200 रुपए के आसपास आती है. इसी रेंज के फोटो फ्रेम की भी खूब बिक्री हुई है. स्कूल और कॉलेज में पढ़ रही बहनों के लिए फर वाले सॉफ्ट टेडी बीयर और पेन सेट भी ट्रेंड में रहे.

प्राइस रेंज - रु 100 से लेकर 300.