गड़बड़ी और समस्याओं को रोकने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने शुरू की तैयारी

prakashmani.tripathi@inext.co.in

PRAYAGARAJ: परिषदीय स्कूलों में प्राथमिक स्तर पर सहायक अध्यापकों की नियुक्ति के लिए प्रस्तावित लिखित परीक्षा के लिए इस बार शासन की ओर से ट्रबल शूटर टीम गठित की जाएगी. इसके लिए विभाग की ओर से कवायद शुरू हो गई है. अलग-अलग विभागों के एक्सपर्ट को इस टीम में शामिल करने की कवायद शुरू हो गई है.

स्पेशलिस्ट होंगे टीम में शामिल

शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की तकनीकि व प्रशासनिक समस्या को दूर करने के लिए गठित ट्रबल शूटर टीम की खास बात ये होगी कि इसमें एनआईसी, यूपी डेस्को, पीएनपी एवं निर्दिष्ट बैंक के तकनीकी रूप से दक्ष कर्मचारियों को शामिल किया जाएगा. ये एनआईसी योजना भवन में बैठकर किसी भी आकस्मिकता की स्थिति में तकनीकि या प्रशासनिक समस्या का त्वरित समाधान कर सकेंगे.

इस बार बरतेंगे सतर्कता

पिछली बार शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा में आयी गड़बडि़यों को ध्यान में रखते हुए इस बार विशेष सतर्कता बरती जा रही है. इस बार की परीक्षा ओएमआर के जरिए कराने का निर्णय भी लिया गया है. गौरतलब है कि पिछली बार सूबे में पहली बार आयोजित शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा के बाद से लगातार विवाद चल रहे हैं.

लिखित परीक्षा के परिणाम से शुरू हो गई थी गड़बड़ी

01 लाख, 25 हजार 746 अभ्यर्थी हुए थे परीक्षा में शामिल

41556 अभ्यर्थी सफल घोषित हुए थे परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती 2018 की लिखित परीक्षा में.

45 फीसदी था जनरल व पिछड़ा वर्ग के लिए पासिंग परसेंटेज 40 फीसद अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति के लिए.

38.52 फीसद अभ्यर्थी ही हो सके थे इसमें उत्तीर्ण.

41556 पदों के आधार पर जारी हुई थी पहली सूची लिखित परीक्षा का परिणाम जारी होने के बाद नियुक्ति के लिए

34660 अभ्यर्थियों को किया गया था इसमें शामिल

6136 अभ्यर्थी चयन सूची से बाहर होने का मामला तूल पकड़ा जो लिखित परीक्षा में हुए थे सफल

6136 अभ्यर्थियों को विवाद के बाद भी किया गया शामिल

68500 को आधार बनाया गया इस भर्ती में और 6127 की दूसरी चयन सूची जारी की गई.

-यहीं से शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को लेकर शुरू हुआ विवाद

-दूसरी सूची में अधिकारियों ने चयन मानक में अचानक से किया था बदलाव

-कॉपियों के मूल्यांकन पर शुरू हुआ विवाद

-मूल्यांकन में गड़बड़ी के कारण कई अभ्यर्थियों को बदला रिजल्ट

-कोर्ट की दखल के बाद अभ्यर्थियों को मिली स्कैन कापियों में सामने आयी रिजल्ट में गड़बड़ी