वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका के एक बड़े अधिकारी ने बुधवार को कहा कि पुलवामा हमले के बाद पाक सरकार ने आतंकियों के खिलाफ कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं लेकिन वे अब भी पलट सकते हैं। अमेरिकी विदेश विभाग की वरिष्ठ अधिकारी ऐलिस जी वेल्स ने एक कार्यक्रम में कहा, 'लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जैश-ए-मुहम्मद (जेएम) जैसे आतंकवादी संगठन जब तक पाकिस्तान में स्वतंत्र रूप से काम करेंगे, तब तक वे अंतरराष्ट्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा बने रहेंगे। फरवरी में पुलवामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है, इस क्षेत्र में आतंकी गतिविधि पर तुरंत रोक लगाने की आवश्यकता है।'

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को चीन फिर देगा 2.5 बिलियन डॉलर का लोन

आतंकी नेताओं पर भी होनी चाहिए कड़ी कार्रवाई

उन्होंने कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, 'हाल के महीनों में, हमने देखा है कि पाकिस्तान ने कुछ आतंकवादियों को हिरासत में लिया है और आतंकवादी संगठनों के लिए पैसे जुटाने वाले संगठनों से जुड़ी संपत्ति को जब्त भी किया है। ये कदम महत्वपूर्ण हैं लेकिन अब भी वे अपनी कार्रवाई से पलट सकते हैं। मेरा मानना है कि पाकिस्तान को अपनी कार्रवाई जारी रखना चाहिए और आतंकवादी नेताओं पर मुकदमा चलाने सहित अन्य कामों भी ध्यान देना चाहिए। हम संयुक्त राष्ट्र में आतंकी मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने में कामयाब रहे, यह दुनिया को यह संदेश देती है कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा। हम पाकिस्तान के नेताओं से देश की सीमाओं के भीतर काम करने वाले आतंकवादी समूहों के खिलाफ निरंतर कार्रवाई करने का आग्रह करते हैं और हम चाहते हैं किवह अपनी कार्रवाई से आगे भी पीछे नहीं हटेंगे।'

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk