-गंगा में फिर से टेनरी वेस्ट जाने की आशंका, चारों टेनरी वेस्ट पंपिंग स्टेशन पर पिछले 4 दिनों से ओवरफ्लो

-यूपीपीसीबी की रिपोर्ट के बाद डीएम ने 258 टेनरीज के लिए जारी किया रोस्टर, 15 दिन के अंतराल पर चलेंगी

------------

KANPUR: लॉकडाउन के दौरान जो गंगा निर्मल होने लगी थी उसका आंचल टेनरीज के खुलते ही फिर मैला होने लगा है। हालांकि यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने इससे मुकर रहा है। डीएम को रिपोर्ट दी है कि टेनरी वेस्ट को सीईटीपी में भेजने वाले चारों पंपिंग स्टेशन पिछले 4 दिनों से ओवरफ्लो हो रहे हैं। इसका सीधा मतलब ये है कि टेनरीज 50 परसेंट क्षमता से ज्यादा काम कर रही हैं, इसकी वजह से टेनरी वेस्ट क्षमता से अधिक जेनरेट हो रहा है और ओवरफ्लो होकर सीधे गंगा में जा रहा है।

जून-जुलाई में ऑड-ईवन

यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के रीजनल ऑफिसर डा। एसबी फ्रैंक्लिन के मुताबिक पंपिंग स्टेशन पर ओवरफ्लो की शिकायत पर डीएम ने टेनरीज के लिए रोस्टर जारी किया है। अब 15-15 दिन के अंतर पर टेनरीयों के ऑपरेटिंग की मंजूरी दी गई है। जून और जुलाई तक ऑड-ईवन सिस्टम लागू रहेगा। थर्सडे से पीएस-1 और पीएस-3 से जुड़ी 120 टेनरी का संचालन किया जाएगा। इसके 15 दिन बाद पीएस-2 और 4 से जुड़ी 138 टेनरी का संचालन होगा। यही सिस्टम जुलाई में भी लागू होगा।

--------------

नियमों को उल्लंघन हुआ तो

यूपीपीसीबी ऑफिसर्स के मुताबिक पीएस-2 और 4 से जुड़ी 138 टेनरीज को 15 दिन तक बंदी का नोटिस भेजा जा रहा है। अगर नियमों को उल्लंघन हुआ तो एनजीटी के आदेश पर टेनरियों को सील किया जा सकता है। थर्सडे से मॉनिटरिंग और तेज की जाएगी।

--------------

मॉनिटरिंग पर उठे सवाल

कानपुर की टेनरीज के लिए एनजीटी ने 50 परसेंट क्षमताओं पर ही संचालन के आदेश दिए हैं। लेकिन पंपिंग स्टेशन ओवरफ्लो होने से ये साफ हो गया है कि टेनरी अपनी पूरी क्षमता से चल रही हैं। वहीं इससे टेनरियों की मॉनिटरिंग पर भी सवाल खड़े हो गए हैं कि आखिर विभागीय अधिकारियों ने क्यों समय रहते इस पर एक्शन नहीं लिया। क्यों 4 दिन तक टेनरी वेस्ट को ओवरफ्लो होने दिया।

-------------

इस प्रकार बनाया गया रोस्टर

पंपिंग स्टेशन टेनरी से अटैच इस डेट में खुलेंगी टेनरीज

पीएस-1 छबीलेपुरवा 25 4 जून से 18 जून

पीएस-3 वाजिदपुर 95 4 जुलाई से 18 जुलाई

-----

पीएस-2 शीतलाबाजार 120 19 जून से 3 जुलाई

पीएस-4 बुढि़याघाट 18 19 से 31 जुलाई

------------

'' पंपिंग स्टेशन पर क्षमता से अधिक टेनरी वेस्ट आने पर डीएम को इसकी रिपोर्ट दी गई थी। इसके बाद रोस्टर के आधार पर 258 टेनरियों को चलाने के लिए रोस्टर जारी किया गया है.''

-डाङ्ख। एसबी फ्रैंक्लिन, रीजनल ऑफिसर,

यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड।

Posted By: Inextlive