कानपुर। इन दिनों एक वेस्टर्न पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और उत्तर-पश्चिम भारत के करीबी मैदानी इलाकों को प्रभावित कर रहा है। इसके अगले 2-3 दिनों के दौरान जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बने रहने की संभावना है। इस दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में अलग-अलग कुछ जगहों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

माैसम : वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश,पूर्वोत्तर और मध्य भारत में भी मूसलाधार

भारत के कुछ हिस्सों में शुष्क मौसम की संभावना

वहीं अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्व और पूर्वोत्तर भारत और प्रायद्वीपीय भारत में गरज के साथ बिजली चमकने की संभावना है। इसके बाद अगले 24 घंटे से उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में शुष्क मौसम की संभावना है। दक्षिण पश्चिम मानसून की वापसी उत्तर पश्चिमी भारत से 11 अक्टूबर के आसपास शुरू हो सकती है।

माैसम : वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश,पूर्वोत्तर और मध्य भारत में भी मूसलाधार

महाराष्ट्र और गोवा में  भारी बारिश की संभावना

आज रविवार के माैसम की बात करें तो मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा में कई स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। इसके अलावा पूर्वाेत्तर भरत में भी माैसम का मिजाज बिगड़ा रहेगा। भारतीय माैसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आज असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश की आशंका है।

माैसम : वेस्टर्न डिस्टर्बेंस से जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश,पूर्वोत्तर और मध्य भारत में भी मूसलाधार

कुछ जगहों पर भारी कुछ जगहों पर हल्की बारिश

जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश में कुछ जगहों पर भारी तो कुछ जगहों पर हल्की बारिश हो सकती है। पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल में कई स्थानों पर गरज संगबौछारें पड़ने की संभावना है। वहीं ओडिशा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, मध्य महाराष्ट्र और मराठावाड़ा में भी ऐसा ही माैसम रहेगा।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk