- आज से शुरू होना था यूनिवर्सिटी और एफिलिएटेड कॉलेजेज में फॉर्म भरने का सिलसिला

- देर शाम तक नहीं अपडेट हो सकी थी यूनिवर्सिटी की वेबसाइट

GORAKHPUR: डीडीयू गोरखपुर यूनिवर्सिटी और एफिलिएटेड कॉलेज में एडमिशन के लिए फॉर्म भरने का सिलसिला सोमवार देर शाम तक शुरू नहीं हो सका. बैंक फीस को लेकर फंसे पेंच की वजह से कैंडिडेट्स दिन भर साइबर कैफे और कंप्यूटर के सामने डटे रहे, लेकिन काफी इंतजार के बाद भी फॉर्म भरने का सिलसिला शुरू नहीं हो सका. यूनिवर्सिटी ने फॉर्म भरने के लिए पहले 28 मार्च की डेट तय की थी, लेकिन बैंक हॉलीडे को देखते हुए इसे 2 अप्रैल तक के लिए एक्सटेंड कर दिया गया था, लेकिन 2 अप्रैल को भी स्टूडेंट्स इंतजार करते रहे, लेकिन फॉर्म नहीं भरे जा सके.

पौने दो लाख सीट्स के िलए एंट्रेंस

सेशन 2018-19 में गोरखपुर यूनिवर्सिटी के अलावा एफिलिएटेड 306 कॉलेजेज की करीब पौने दो लाख सीट्स पर एडमिशन के लिए कॉमन एंट्रेंस एग्जाम ऑर्गनाइज किया जाना है. इसके लिए यूनिवर्सिटी कॉमन एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट करा रही है, जिसके लिए फॉर्म भरने का सिलसिला ही नहीं शुरू हो सका. बाकायदा यूनिवर्सिटी की वेबसाइट www.ddugu.edu.in पर सारी जानकारियां भी एक दिन पहले अपलोड कर दी गई थी, लेकिन सोमवार की सुबह से ही विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन के लिए साइबर कैफे पर जमे रहे. मगर सर्वर ने साथ नहीं दिया. खबर लिखे जाने तक वेबसाइट शुरू नहीं हो सकी थी.

बैंकों से बात नहीं हुई फाइनल

एक बार तारीख बदलने के बाद भी यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से फीस पेमेंट को लेकर बैंक से चल रही बातचीत अंतिम रूप नहीं ले सकी है. सोर्सेज की मानें तो फीस पेमेंट का ऑप्शन न होने की वजह से ही वेबसाइट को ब्लॉक करके रखा गया है. ऐसे में यूनिवर्सिटी प्रशासन के जिम्मेदारों की बेरुखी का खामियाजा कैंडिडेट्स को उठाना पड़ा है. इसी प्रॉब्लम की वजह से यूनिवर्सिटी प्रशासन ने ऑनलाइन आवेदन 28 अप्रैल से शुरू करने की बजाय दो अप्रैल से शुरू करने का फैसला लिया था, लेकिन यूनिवर्सिटी की इस कमी को बैंक बंदी ने ढंक दिया था, लेकिन सोमवार को यह फेल्योर फिर सामने आया.

बॉक्स -

वीसी से बोल दिया झूठ

पहले दिन कॉमन एंट्रेंस एग्जाम को लेकर वीसी प्रो. वीके सिंह ने भी निगाह रखी हुई थी. उन्होंने जब इसके लिए जिम्मेदार डॉ. सुधीर श्रीवास्तव से बातचीत की, तो डॉ. सुधीर ने वीसी से झूठ बोल दिया और प्रॉसेस शुरू होने की बात कही. वीसी ने उन्हें शाम तक पहले दिन का डाटा अपडेट करने के निर्देश दिए थे, लेकिन वेबसाइट बंद हो जाने की वजह से फॉर्म भरे ही नहीं जा सके, जिससे कोई डाटा ही अपडेट नहीं हो सका. वहीं इस मामले में जब डॉ. सुधीर से बात करने की कोशिश की गई, तो उन्होंने फोन नहीं रिसीव किया.

वेबसाइट शुरू नहीं हो सकी है, इसकी जानकारी नहीं है. इसके इंचार्ज डॉ. सुधीर से बात की थी, उन्होंने फॉर्म भरने की बात कही थी. अगर अब भी वेबसाइट नहीं शुरू हुई है, तो यह गंभीर मामला है, इसे तत्काल शुरू कराने की व्यवस्था करता हूं. स्टूडेंट्स को कोई समस्या नहीं होने दी जाएगी.

- प्रो. वीके सिंह, वीसी, डीडीयूजीयू